कोरोना वैक्सीन को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने अहम जानकारी दी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि वर्तमान में कोरोना वैक्सीन के टीके विभिन्न परीक्षण प्रकिया के तहत पहली, दूसरी और तीसरी स्टेज में हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने सोशल मीडिया पर अपने फॉलोवर्स के साथ 'संडे संवाद' में कहा कि मंत्रालय और एजेंसिया वैक्सीन के परिणाम की प्रतीक्षा कर रहीं है।

मंत्री ने कहा कि वैक्सीन दो डोज और तीन डोज की सीरीज में आएगी. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक द्वारा विकसित वैक्सीन की दो खुराक देने की जरूरत पड़ेगी वहीं कैडिला हेल्थकेयर जिस वैक्सीन पर काम कर रही है उसकी तीन डोज लेनी होगी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्री-क्लिनिकल चरण में अन्य टीकों और उनकी संबंधित डोज का परीक्षण जारी है।
मंत्री ने बताया कि सरकार की योजना है कि पूरी आबादी में लक्षित समूहों को प्राथमिकता देकर COVID-19 वैक्सीन को शामिल किया जाए, उन्होंने साफ किया कि यह अनुमान है कि COVID-19 वैक्सीन की आपूर्ति शुरुआत में सीमित मात्रा में ही उपलब्ध होगी।

उन्होंने ये भी कहा कि 'भारत जैसे विशाल देश में, खतरे के आकलन, विभिन्न जनसंख्या समूहों के बीच उनकी जरूरत, कोरोना के कुल मामलों के बीच मृत्यु दर, समेत कई विषयों पर मंथन करके टीका वितरण की प्राथमिकता तय करना भी एक चुनौती भरा काम होगा.।

डॉक्टर हर्षवर्धन ने यह भी कहा कि भारत कई प्रकार के टीकों की उपलब्धता देख रहा है, जिनमें से कुछ तो एक विशेष आयु वर्ग के लिए उपयुक्त हो सकते हैं जबकि अन्य के लिए एक साथ वैक्सीन मुहैया कराने की तैयारी हो रही है।