भारत ने कोरोना वायरस की वैक्सीन की 160 करोड़ डोज का ऑर्डर दे दिया है जिससे देश की लगभग 60 फीसदी आबादी कवर होगी। आपको बता दें कि कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में चीन ने 4, रूस ने 2 और UK ने 1 वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल दे दिए हैं। हालांकि भारत में इस वैक्सीन को अप्रूवल नहीं मिला है लेकिन प्री-ऑर्डर में वह सबसे आगे है। भारत ने 160 करोड़ डोज सिक्योर कर लिए हैं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक यह 80 करोड़ लोगों को कवर करेंगे यानी हमारे देश की 60% आबादी को। यह हर्ड इम्युनिटी विकसित करने में काफी होगा।
हर दो हफ्ते में अपडेट होने वाले लॉन्च एंड स्केल स्पीडोमीटर एनालिसिस के मुताबिक भारत ने 30 नवंबर तक इन तीन वैक्सीन के 160 करोड़ डोज सिक्योर कर लिए हैं। वहीं, उसके बाद यूरोपीय संघ ने 158 करोड़ और अमेरिका ने 100 करोड़ से कुछ ज्यादा डोज सिक्योर किए हैं। अमेरिका की ड्यूक यूनिवर्सिटी ग्लोबल हेल्थ इनोवेशन सेंटर के मुताबिक भारत ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका के कोवीशील्ड वैक्सीन के 50 करोड़ डोज खरीदने का करार किया है।
वहीं, भारत को अमेरिकी कंपनी नोवावैक्स से 100 करोड़ डोज और रूस के गामालेया रिसर्च इंस्टिट्यूट से स्पूतनिक V वैक्सीन के 10 करोड़ डोज मिलने वाले हैं। ड्यूक रिसर्चर्स ने एनालिसिस में कहा कि भारत और ब्राजील जैसे मैन्युफैक्चरिंग क्षमता वाले देशों ने प्रमुख वैक्सीन कैंडिडेट्स से बड़ी संख्या में मार्केट कमिटमेंट हासिल किए हैं। वह भी इन कैंडिडेट्स के वैक्सीन बाजार में आने से पहले।