भारत में कोरोना वायरस वैक्सीन अभियान शुरू हो चुका है जिसके तहत पहला टीका मनीष कुमार को लगाया गया है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान यानि एम्स में आज 16 जनवरी को राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई। यहां अस्पताल के एक सफाईकर्मी मनीष कुमार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की उपस्थिति में कोरोना का पहला टीका लगाया गया। मनीष देश की राजधानी दिल्‍ली में कोरोना का टीका लगवाने वाले पहले शख्स बन गए हैं।

वैक्‍सीन लगवाने के बाद मनीष कुमार ने कहा कि अफवाहों पर ध्‍यान न दें। कोरोना का टीका मैंने लगवाया है। मैं ठीक हूं और ये टीका सुरक्षित है।

वैक्‍सीनेशन अभियान की शुरुआत पर एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया को भी कोरोना का टीका लगाया गया। इस दौरान वहां उपस्थित लोगों ने तालियां बजाकर उनकी सराहना की। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉण् हर्षवर्धन ने कहा कि दोनों टीके. भारत बायोटेक की स्वदेशी कोवैक्सीन और ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका की कोविशील्ड इस महामारी के खिलाफ लड़ाई में एक संजीवनी हैं।

टीका अभियान की शुरुआत के बाद हर्षवर्धन ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ये टीके महामारी के खिलाफ लड़ाई में हमारी संजीवनी हैं। हमने पोलियो के खिलाफ लड़ाई जीती है और अब हम कोविड के खिलाफ युद्ध जीतने के निर्णायक चरण में पहुंच गए हैं। मैं इस अवसर पर सभी फ्रंटलाइन कर्मियों को बधाई देता हूं।