कोरोना वायरस के नए वैरिएंट के खतरे को देखते हुए मुंबई नगर निगम ने कई देशों से आने वाले यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। इसके अनुसार जो यात्री मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरेंगे, उन सभी यात्रियों को एयरपोर्ट पर उतरने के बाद अपने खर्चे से RT-PCR टेस्ट करवाना अनिवार्य होगा। यह नियम 3 सितंबर 2021 की आधी रात से लागू है। इससे पहले सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के लिए अब इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन का नियम खत्म कर दिया था। यह फैसला सरकार ने कोरोना के नए वैरिएंट को देखते हुए लिया था।

BMC अधिकारियों ने मामले पर जानकारी देते हुए बताया कि यह फैसला यूरोप, मध्य पूर्व, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे जैसे देशों के यात्रियों पर लागू होगा और उन्हें मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुंचते ही अपनी RT-PCR टेस्ट  कराना होगा। बता दें कि इस टेस्ट का खर्च यात्री को ही देना होगा। BMC ने इस टेस्ट का दाम 600 रुपए रखा है।
बता दें कि बदले नियम के मुताबिक अब अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए  Institutional Quarantine का नियम खत्म कर दिया गया है। अब इसकी जगह उन्हें अपना RT-PCR टेस्ट करवाना होगा। इसके लिए मुंबई एयरपोर्ट पर सभी तैयारियां कर ली गई है। अब मुंबई एयरपोर्ट पर एक घंटे में कम से कम तीन यात्रियों की कोरोना जांच कर ली जाएगी। सरकार का यह आदेश 3 सितंबर से विदेश से आने वाले सभी यात्रियों पर लागू होगा।
बता दें कि पहले सरकार ने कोरोना की दोनों डोज लें चुके लोगों को इस नियम से छूट दी थी लेकिन, कोरोना के नए वैरिएंट  C.1.2 देखते हुए यह छूट भी खत्म कर दी गई है। इसके अलावा जिन यात्रियों को मुंबई से बाहर जाना है या कनेक्टिंग फ्लाइट लेनी है वे अपनी नेगेटिव रिपोर्ट खुद लाएंगे। इसके अलावा उन्हें यह लिखकर देना होगा कि वह 14 दिन का होम क्वारंटाइन पूरा करेंगे।