राहतभरी खबर है कि ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस का नया म्यूटेन भारत में नहीं मिला है। इसको लेकर केंद्र सरकार ने कहा कि ब्रिटेन में मिले कोरोना के नए स्ट्रेन का फिलहाल देश में कोई केस नहीं है। नीति आयोग के डॉ. वीके पॉल ने बताया कि कोरोना का नया स्ट्रेन काफी तेजी फैलता है। इस म्यूटेशन से मामलों की गंभीरता और फैटेलिटी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

देश में बन रही वैक्सीन को लेकर उन्होंने कहा कि अभी तक हमारे देश दूसरे देशों में बन रही वैक्सीन की क्षमता पर इसका कोई प्रभाव नहीं है। उन्होंने कहा कि कोरोना के नए स्ट्रेन को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है। इससे दहशत में आने की भी कोई जरूरत नहीं है। अभी के लिए हमें सतर्क रहने की जरूरत है।हेल्थ मिनिस्ट्री के सेक्रेटरी राजेश भूषण ने बताया कि करीब साढ़े 5 महीने बाद देश में 3 लाख से कम एक्टिव केस मिले हैं। मौजूदा समय में देश में कुल केसों के सिर्फ 3% ही एक्टिव केस हैं। पिछले 7 हफ्तों रोजाना आने वाले कोरोना के औसत मामलों में भी कमी दर्ज की गई है।
उन्होंने बताया कि भारत के 26 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 10 हजार से कम एक्टिव केस बचे हैं।