पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ा दिया गया है। क्योंकि राज्य में कोरोना वायरस के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। इसी वजह से बंगाल सरकार ने एकबार फिर से राज्य में लॉकडाउन लागू करने का फैसला लिया है। अब पश्चिम बंगाल में 31 जुलाई तक लॉकडाउन लागू रहेगा। हालांकि, ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली सरकार ने यह भी कहा है कि लॉकडाउन में पहले की तुलना में काफी हद तक छूट भी दी जाएगी।
इससे पहले पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई। इस मीटिंग में कोरोना के ताजा मामले और राज्य के हालात को लेकर चर्चा की गई। इस मीटिंग के बाद ममता बनर्जी सरकार ने लॉकडाउन लागू करने का फैसला कर लिया। बताया गया है कि कुछ छूट और तय शर्तों के साथ ही अब 31 जुलाई तक लॉकडाउन लागू रहेगा।
कोरोना वायरस के कारण एकबार फिर से देश में लॉकडाउन की चर्चा शुरू हो गई है। पहले चेन्नै फिर गुवाहाटी और अब पश्चिम बंगाल ने लॉकडाउन लागू भी कर दिया है। बेंगलुरु समेत कई और शहर भी लॉकडाउन फिर से लागू करने पर विचार कर रहे हैं। दरअसल, महानगरों में कोरोना की रफ्तार तेज होने के कारण ही देश में कोरोना वायरस के मामले अब साढ़े चार लाख के पार पहुंच गए हैं।
कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के बीच तमिलनाडु सरकार ने चेन्नै और उसके आसपास के तीन जिलों में 30 जून तक लॉकडाउन लागू किया है। असम में कोरोना के मामलों में आई तेजी के बाद राज्य सरकार ने गुवाहाटी के 11 नगर पालिका क्षेत्रों में मंगलवार से ही 14 दिनों के लिए लॉकडाउन लागू कर दिया है।
पश्चिम बंगाल में अभी तक कोरोना के कुल 14728 मामले सामने आए हैं। इसमें से कोरोना के कुल 9218 मरीज ठीक भी हुए हैं और 580 की मौत हो गई है। अब राज्य में कोरोना के कुल 4930 ऐक्टिव केस हैं। इसके अलावा 18,13,88 लोगों को सर्विलांस में रखा गया है।