रूस की वैक्सीन निर्मारा कंपनी स्पूतनिक वी ने मंगलवार को कहा कि भारत में मिले कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ उनकी वैक्सीन ज्यादा असदार है। कंपनी ने दावा किया कि अब तक जितनी वैक्सीन ने इस नए स्ट्रेन को लेकर परिणाम जारी किए हैं, उनमें सबसे बेहतर नतीजे स्पूतनिक वी के हैं। दरअसल, गामालेया सेंटर ने कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट पर किए गए अपने रिसर्च को एक अंतरराष्ट्रीय समीक्षा जनरल में प्रकाशित करने के लिए जमा किया है।

बता दें कि भारत में रूस की कोरोना वायरस वैक्सीन स्पूतनिक वी के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। बीते रविवार को अपोलो अस्पताल के 170 सदस्यों को वैक्सीन लगाई गई। अब 20 जून से आम जनता इस वैक्सीन को लगा सकेगी। दिल्ली में इस वैक्सीन की एक खेप पहुंच भी चुकी है। जहां तक स्पूतनिक वी के कीमत की बात है तो केंद्र सरकार ने एक डोज की कीमत 1145 रुपए निर्धारित की है। 

स्पूतनिक लाइट को भी जल्द मिल सकती है मंजूरी

भारत में जल्द ही सिंगल डोज वैक्सीन स्पुतनिक लाइट को भी मंजूरी मिलने की उम्मीद है। पीटीआई ने मई के अंत में बताया कि सरकार भारत में स्पुतनिक वी की सिंगल-डोज़ कोविड -19 वैक्सीन स्पुतनिक लाइट को जल्द लॉन्च कर सकती है।