राजधानी जयपुर के रामगंज इलाके में सोमवार को एक ही दिन में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का जैसे विस्फोट ही हो गया। विभाग ने सुबह जहां दो मरीजों की जांच रिपोर्ट जारी की, जिसमें पहले पॉजिटिव की मां और बेटे को पॉजिटिव बताया गया। वहीं देर रात विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट में इसी परिवार के आठ और सदस्य पॉजिटिव पाए गए हैं। प्रदेश में एक ही दिन में एक ही परिवार और इलाके से एक साथ 10 पॉजिटिव का यह पहला मामला है। इन्हें मिलाकर अब प्रदेश में कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 79 हो गई है। इस तरह प्रदेश में सोमवार को 20 नए मामले सामने आए हैं।

चिकित्सा विभाग ने भी इस स्थिति को खतरनाक बताते हुए आमजन को घरों से बाहर नहीं निकलने की सलाह देते हुए कहा है कि इसकी पालना नहीं हुई तो आने वाले समय में स्थितियां और खतरनाक हो सकती है। राजधानी के रामगंज इलाके में 10 नए मामलों सहित अब पॉजिटिव मरीजों की संख्या 12 हो गई है। इससे पहले परिवार के पहले व्यक्ति सहित उसका दोस्त पॉजिटिव पाया जा चुका है। कुल 12 में से 11 एक ही परिवार के सदस्य हैं।

वहीं अलवर में पहला मामला सामने आया है। इसने पिफलिपिंस से आए व्यक्ति के साथ यात्रा की थी, जो रविवार को पॉजिटिव पाया गया था। एक दिन पहले झुंझूनू में एक एमबीबीएस छात्र पॉजिटिव आया था। प्रदेश में राहत की खबर यह है कि अब तक पॉजिटिव पाए गए 69 पॉजिटिव में से 14 नेगेटिव हो गए हैं। चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि इनमें से 4 को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया है, जबकि 10 को अभी निगरानी में रखा गया है। विभाग की ओर से दोपहर में जारी रिपोर्ट के अनुसार जयपुर के रामगंज इलाके में पॉजिटिव पाए गए व्यक्ति की 70 वर्षीय मां और उसका 20 वर्षीय पुत्र भी कोरोना वायरस संक्रमित पाए गए। देर रात जारी रिपोर्ट में विभाग ने परिवार के सदस्यों की सूची जारी नहीं की। यह रिपोर्ट आते ही महकमे में हडकंच मच गया।

वहीं भीलवाड़ा में बांगड़ अस्पताल की 40 वर्षीय महिला संक्रमित मिली है। उसने बांगड़ अस्पताल के ओपीडी में उपचार करवाया था। उधर, ईरान से जैसलमेर और जोधपुर मिलिट्री स्टेशन स्थित क्वारेंटाइन कैंप में लाए गए भारतीयों में से सात लोगों को पॉजिटिव पाया गया है। जबकि एक अन्य व्यक्ति भी पॉजिटिव मिला है। प्रदेश में अब मरीजों की संख्या 79 हो गई है। लेकिन विभाग ने इरान के पॉजिटिव मरीजों को अलग कर राज्य का आंकड़ा 72 और एक अलग इनका मिलाकर 79 जारी किया। जोधपुर शहर ज्वाला विहार निवासी छात्र (19) लंदन से 19 मार्च को जोधपुर लौटा था। जिसको स्थानीय जीत कॉलेज में क्वारेंटाइन किया गया था। वह भी जांच में रविवार को पॉजिटिव निकला।