कोरोना वैक्सीन को वायरस संक्रमण से बचाव का कवच माना जा रहा है। अब एक बार यह फिर से साबित हो गया है कि कोरोना वैक्सीन सच में लोगों को सुरक्षा दे रहा है। हाल ही में हुए एक अध्ययन में सामने आया कि टीके की दोनों डोज लेने वाले 99.79 फीसदी लोग पूरी तरह से स्वस्थ हैं। इन्हें कोरोना नहीं जकड़ सका, जबकि पहली डोज लेने वाले 99.87 प्रतिशत लोगों को कोरोना नहीं हुआ। स्वास्थ्य विभाग की ओर से मिले 15 जनवरी से 23 मई 2021 तक के आंकड़े भी इसकी पुष्टि कर रहे हैं।

गौरतलब है कि भारत में कोविड के दो लाख से कम मामले आने के एक दिन बाद ही बुधवार को एक बार फिर नए 2,08,921 मामले सामने आए, जबकि बीते 24 घंटों में कोरोना से 4,157 लोगों की मौत हो गई। इसकी जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने साझा की है। सोमवार को भारत ने कोरोनोवायरस संक्रमण के कारण हुई मौतों का तीन लाख का आकड़ा पार कर लिया, इससे अमेरिका और ब्राजील के बाद तीन लाख मौतों को पार करने वाला भारत दुनिया का तीसरा देश बन गया है। पिछले 15 दिनों में भारत में 60,000 से ज्यादा मौतें दर्ज की गई हैं।

भारत में कोविड-19 मामलों की कुल संख्या अब 2,71,57,795 है, जिसमें 24,95,591 सक्रिय मामले हैं और अब तक 3,11,388 मौतें हुई हैं। मंगलवार को, भारत ने 1,96,427 मामले दर्ज किए जो 14 अप्रैल के बाद का सबसे कम आंकड़ा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटों में कुल 2,95,955 लोगों को छुट्टी दे दी गई है, जिनमें से 2,43,50,816 अब तक कोविड से ठीक हो चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में अब तक कुल 20,06,62,456 लोगों को टीका लगाया गया है, जिनमें 20,39,087 लोगों को पिछले 24 घंटों में टीका लगाया गया है।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, कोविड के लिए 25 मई तक 33,48,11,496 नमूनों का परीक्षण किया गया है। इनमें से 22,17,320 नमूनों की मंगलवार को जांच की गई। भारत ने ठीक एक हफ्ते पहले 4,529 मौतों के साथ कोविड के कारण रिकॉर्ड मौतें दर्ज कीं। जो दिसंबर 2019 में चीन के वुहान में कोरोनोवायरस के प्रकोप के बाद से किसी भी देश में कोविड संक्रमण से सबसे ज्यादा मौतें हुईं। यह 12 जनवरी को अमेरिका में 4,468 और इससे पहले ब्राजील में 6 अप्रैल को 4,211 मौतों के आंकड़े को पार कर गया। ये तीनों महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। हफ्तों तक घातक महामारी की दूसरी लहर से जूझने के बाद, ताजा कोविड मामले 17 मई को पहली बार तीन लाख अंक से नीचे आ गए थे। 7 मई को 4,14,188 के रिकॉर्ड उच्च स्तर को छूने के बाद ये गिरावट सामने आई थी।