देश में वैक्सीन की कमी का असर अब टीकाकरण पर भी देखने को मिल रहा है। दिल्ली सहित कई राज्यों ने वैक्सीन की पर्याप्त व्यवस्था न होने की वजह से कई टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं। इसी का परिणाम है कि पिछले एक दिन में 19 लाख लोगों को ही वैक्सीन लग पाया। जबकि उससे पहले यह आंकड़ा 24 लाख तक पहुंच गया था। 

वैक्सीन की कमी को लेकर राज्य सरकारें लगातार केंद्र सरकार पर हमला कर रही हैं। इस बीच केंद्र सरकार ने दावा किया है कि इस साल के अंत तक भारत में 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज लग सकती हैं। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने ट्वीट कर इसकी जानकारी की। उन्होंने ट्वीट किया सरकार ने दिसंबर तक देश में वैक्सीन की उपलब्धता का पूरा रोडमैप पेश किया है। इसके अनुसार जुलाई तक देश में कुल 51.6 करोड़ डोज उपलब्ध होंगी। इनमें से लगभग 17 करोड़ डोज दी जा चुकी हैं। 

वहीं, अगस्त से दिसंबर तक 216 करोड़ डोज का उत्पादन होगा। देश में 18 साल से अधिक उम्र के लगभग 95 करोड़ लोग हैं। ऐसे में सभी को वैक्सीन मिलेगा। इन सभी वैक्सीन डोज का उत्पादन देश में होगा। इसमें आयात होने वाली वैक्सीन शामिल नहीं हैं। नीति आयोग के सदस्य और वैक्सीन पर गठित टास्क फोर्स के प्रमुख डॉ. वीके पाल ने कहा कि वैक्सीन की उपलब्धता बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं और आने वाले चंद महीनों में इसके परिणाम दिखने लगेंगे।