देश में पिछले 24 घंटे में कोविड के 13,083 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही कारोना से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 1,07,33,131 तक पहुंच गई है। हालांकि भारत में प्रतिदिन कोरोना के नए मामलों की संख्या काफी कम है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने शनिवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि विगत 23 दिनों से देश में कोरोना के दैनिक नए मामलों की संख्या 20,000 से कम रही है। 10 जनवरी से लेकर अब तक प्रतिदिन मौत का आंकड़ा 200 से ऊपर नहीं पहुंचा है।

19 जनवरी को भारत में कोरोना के 10,064 नए मामले सामने आए थे। यह संख्या इस वर्ष का सबसे न्यूनतम आंकड़ा है। पिछले साल कोरोना के न्यूनतम मामलों की संख्या 3 जून को दर्ज की गई थी जो 9,633 थी। स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि कोरोना से पिछले 24 घंटे में 137 लोगों की मौत हो गई है। इसके साथ ही इस महामारी के कारण मरने वालों की संख्या 1,54,147 तक पहुंच गई है। मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, अब तक 1,04,09,160 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। देश में फिलहाल सक्रिय मामलों की संख्या 1,69,824 है। मरीजों के ठीक होने की दर बढकऱ 96.98 प्रतिशत हो गई है, जबकि मृत्यु दर घटकर 1.44 प्रतिशत हो गई है।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कहा है कि 29 जनवरी तक कुल 19,58,37,408 नमूनों की जांच की गई है। इनमें से 7,56,329 नमूनों की जांच शुक्रवार को की गई। लगभग 78 प्रतिशत दैनिक मामले इन सात राज्यों - केरल, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, बिहार, कर्नाटक, तमिलनाडु और गुजरात से आ रहे हैं। गौरतलब है कि कोविड के दो वैक्सीनों को मंजूरी मिलने के बाद पूरे देश में 16 जनवरी को टीकाकरण अभियान शुरू किया गया था। टीकाकरण के पहले चरण में अब तक 28 लाख लाभार्थियों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। हेल्थकेयर वर्कर्स को कोविड वैक्सीन लगाने के मामले में 11 राज्यों ने बेहतर प्रदर्शन किया है। यहां लक्षित लाभार्थियों की संख्या से 30 प्रतिशत से भी अधिक लोगों को टीका लगाया गया है। लक्षद्वीप में 83.4 प्रतिशत, ओडिशा में 50.7 फीसदी, हरियाणा में 50 प्रतिशत और अंडमान व निकोबार में 48.3 प्रतिशत लाभार्थियों को वैक्सीन लगाई गई।