महाराष्ट्र सरकार और फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के बीच चल रही तनातनी का मुद्दा लोकसभा तक पहुंच चुका है। इस बीच महाराष्ट्र सरकार के परेशान करने वाली रिपोर्ट है। दरअसल कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण के कारण मौत के मामले में महाराष्ट्र अब भी अव्वल बना हुआ है और यह देश का एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां पिछले 24 घंटे के दौरान 100 से अधिक 474 कोरोना संक्रमितों ने दम तोड़ा है। देश के शेष राज्यों में 100 से कम संख्या में कोरोना मरीजों की मौत हुई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से गुरुवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक 16 सितंबर को देशभर में 1,132 कोरोना संक्रमितों की मौत हो गयी, जिससे अब तक इस संक्रमण के कारण जान गंवाने वाले व्यक्तियों की संख्या बढ़कर 83 हजार के पार 83,198 हो गयी है। फिलहाल देश में राष्ट्रीय औसत कोरोना मृत्यु दर 1.63 प्रतिशत पर स्थिर है। मंत्रालय द्वारा आज जारी आंकड़ों के अनुसार पंजाब में कोरोना मृत्यु दर 3.0 प्रतिशत है। 

इसके अलावा गुजरात में मृत्यु दर 2.8 प्रतिशत, महाराष्ट्र में 2.8 प्रतिशत, दिल्ली में 2.1 प्रतिशत, मध्य प्रदेश में 1.9 प्रतिशत, पश्चिम बंगाल में 1.9 प्रतिशत, जम्मू-कश्मीर में 1.6 प्रतिशत, तमिलनाडु में 1.6 प्रतिशत, कर्नाटक में 1.6 प्रतिशत,उत्तर प्रदेश में 1.4 प्रतिशत, राजस्थान में 1.2 प्रतिशत, हरियाणा में 1.0 प्रतिशत, झारखंड में 0.9 प्रतिशत, आंध्र प्रदेश में 0.9 प्रतिशत, छत्तीसगढ़ में 0.8 प्रतिशत, तेलंगाना में 0.6 प्रतिशत, बिहार में 0.5 प्रतिशत,ओडिशा में 0.4 प्रतिशत, केरल में 0.4 प्रतिशत और असम में 0.3 प्रतिशत है। महाराष्ट्र में 16 सितंबर को सर्वाधिक 474 कोरोना संक्रमितों ने दम तोड़ा। 

इसके अलावा उत्तर प्रदेश में 86,पंजाब में 78, आंध्रप्रदेश में 64,पश्चिम बंगाल में 61, तमिलनाडु में 57 और कर्नाटक में 55 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो गयी। अंडमान निकोबार द्वीप समूह, अरुणाचल प्रदेश, दादर-नगर हवेली एवं दमन-दीव, नागालैंड और सिक्किम में पिछले 24 घंटे के दौरान एक भी कोरोना संक्रमित की मौत नहीं हुई। देश में मात्र मिजोरम ही एक ऐसा राज्य है, जहां अब तक किसी भी कोरोना संक्रमित की मौत दर्ज नहीं की गई है। लक्षद्वीप में अब तक कोई व्यक्ति कोरोना से संक्रमित नहीं हुआ है।