देश की राजधानी दिल्ली के प्रमुख अस्पतालों में भी मंगलवार को ऑक्सीजन की कमी की स्थिति बन गई। कई प्रमुख अस्पतालों में कुछ घंटों का ही ऑक्सीजन बची रहने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से मांग की है कि दूसरे राज्यों से ऑक्सीजन के दिल्ली पहुंचने में बाधा को दूर किया जाए।

मुख्यमंत्री अरविंदकेजरीवाल ने मंगलवार शाम को कहा कि दिल्ली में ऑक्सीजन का गंभीर संकट बना हुआ है। केंद्र सरकार दिल्ली को तत्काल ऑक्सीजन उपलब्ध कराए। कुछ अस्पतालों में कुछ ही घंटे के लिए ऑक्सीजन बचे हैं। सीएम ने कहा कि दिल्ली में ऑक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार युद्ध स्तर पर काम कर रही है। दिल्ली में बड़े स्तर पर ऑक्सीजन बेड्स बढ़ाने का काम भी जारी है।

वहीं, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदियाने कहा कि ऑक्सीजन को लेकर सब अस्पतालों से मदद के फोन आ रहे हैं। ऑक्सीजन सप्लाईकरने वाले लोगों को अलग-अलग राज्यों में रोका जा रहा है। ऑक्सीजन की सप्लाई कोलेकर राज्यों के बीच जंगलराज न हो। इस पर केंद्र सरकार को बेहद संवेदनशील और सक्रिय रहना होगा।

मुख्यमंत्री अरविंदकेजरीवाल ने आज वीडियो कांफ्रेंस के जरिए दिल्ली में कोरोना के मौजूदा हालात कोलेकर समीक्षा बैठक की। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने अधिकारियों के साथ दिल्ली में अधिक से अधिक संख्या में ऑक्सीजन बेड बढ़ाने पर चर्चा की। सीएम ने कहा कि देखाजा रहा है कि अस्तपाल में आने वाले अधिकतर मरीजों में ऑक्सीजन स्तर कम पाया जा रहाहै। उनको जल्द से जल्द ऑक्सीजन दिया जा सके, जिससे कि उनके स्वास्थ्य में जल्द सुधार आ सके औरबेहतर इलाज मिल सके। अधिकारियों ने अवगत कराया कि ऑक्सीजन बेड बढ़ाने पर पूरा ध्यान केंद्रित किया गया है और ऑक्सीजन बेड बढ़ाने का काम त्वरित गति से चल रहा है।

सीएम अरविंदकेजरीवाल ने दिल्ली में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन आपूर्ति को लेकर अधिकारियों से विस्तृत चर्चा की। सीएम ने कहा कि दिल्ली सरकार का प्रयास है कि दिल्ली को अधिक से अधिक मात्रा में ऑक्सीजन की आपूर्ति मिले। इसके लिए सरकार की तरफ से सभी तरह के प्रयास किए जाएं। समीक्षा बैठक में दिल्ली में दूसरे राज्यों से आ रहे ऑक्सीजन के सिलेंडर पर विस्तृत चर्चा की गई।अधिकारियों ने सीएम को अवगत कराया कि दिल्ली में नोएडा और राजस्थान से ऑक्सीजन के सिलेंडर आते हैं। नोएडा और राजस्थान से ऑक्सीजन के सिलेंडरों को दिल्ली तक पहुंचने में कई तरह की बांधाओं का सामना करना पड़ता है और जब भी बांधाएं आती है, तब केंद्र सरकार से बात करनी पड़ती है। सीएम ने अधिकारियों को केंद्र सरकार से बात कर इन बांधाओं को शीघ्र दूरकरने के निर्देश दिए। अधिकारियों ने बताया कि केंद्र सरकार से बातचीत जारी है औरकेंद्र से मांग की जा रही है कि नोएडा और राजस्थान से आने वाले ऑक्सीजन के सिलेंडरों बिना किसी बांधा के दिल्ली आने दिया जाए। इससे ऑक्सीजन के सिलेंडरों को दिल्ली में पहुंचने में कम समय लगेगा और लोगों को जल्द से जल्द राहत मिल सकेगी।