भारत में कोरोना की दूसरी लहर का कहर अब कुछ थमा है, लेकिन इसने हजारों लोगों की जान ले ली है। भारत के ही जैसे अब कई देशों में कोरोना संक्रमण की वापसी होती दिख रही है। इन देशों में चीन भी शामिल है। वहीं विशेषज्ञों का कहना है कि ब्रिटेन में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है, ऐसे में सावधानी जरूरी है। अपने आपको सबसे पहले कोरोना मुक्त घोषित कर चुके ऑस्ट्रेलिया में भी कोरोना संक्रमण वापस फैलने लगा है।

चीन ने दक्षिणी प्रांत ग्वांगदोंग में कोरोना संक्रमण के नए मामले सामने आने के बाद सोमवार से यहां यात्रा प्रतिबंध लागू कर दिए हैं। यहां प्रांत की राजधानी ग्वांगझू में कई इलाकों में लॉकडाउन भी लगा दिया गया है। इस इलाके में कोरोना के 27 नए मामले मिले हैं। आशंका है कि इनकी संख्या में इजाफा हो सकता है। इन मामलों में 20 स्थानीय लोगों के संक्रमण से जुड़े हैं और सात मामले बाहर के बताए गए हैं। इसके बाद से ही यहां पर लोगों को घरों के भीतर रहने के आदेश दिए गए हैं। ग्वांगझू के स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार इलाके में संक्रमण तेजी से फैल रहा है। यहां बाजारों, मनोरंजन स्थल, रेस्टोरेंट्स और स्कूलों को भी बंद कर दिया गया है।

विशेषज्ञों का कहना है कि ब्रिटेन में कोरोना की तीसरी लहर आ गई है। ऐसे में इससे बचने के लिए कोरोना वैक्सीन ही एकमात्र रास्ता है। यही कारण है कि ब्रिटेन में टीकाकरण युद्धस्तर पर चल रहा है। इंग्लैंड के ट्विकेनहैम स्टेडियम में ऐसा ही टीकाकरण केंद्र बनाया गया, जहां 18 से 30 साल के पंद्रह हजार लोगों को एक ही दिन में कोरोना वैक्सीन लगाया गया। स्टेडियम के बाहर कई किलोमीटर लंबी कतारें लगी दिखीं और स्टेडियम लोगों से भरा नजर आया। यहां लोगों ने वैक्सीन के लिए घंटों इंतजार किया। ब्रिटेन सरकार चाहती है कि जल्द से जल्द सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लग जाए, इसलिए यहां दो डोज के बीच 12 सप्ताह के अंतर को कम करके 8 सप्ताह कर दिया गया है।

वहीं ऑस्ट्रेलियाई प्रशासन का कहना है कि देश के दूसरे सबसे बड़े शहर मेलबोर्न में कोरोना संक्रमण के मामले मिले हैं। जिसके बाद उस क्षेत्र में लॉकडाउन लगा दिया गया है। स्वास्थ्य मंत्री मार्टिन फोली ने वृद्धाश्रमों में संक्रमण फैलने की खबर को विक्टोरिया की सरकार के लिए चिंता का विषय बताया है। उधर, वियतनाम ने कोरोना से निपटने के लिए अपने सबसे बड़े शहर में 90 लाख लोगों के परीक्षण की योजना बनाई है। देश में अब नए प्रतिबंधों की घोषणा भी की गई जिसके तहत लोगों को सिर्फ जरूरी गतिविधियों के लिए घर छोडऩे की अनुमति दी गई है। यहां 10 से अधिक लोगों को एक जगह पर जुटने या सार्वजनिक समारोहों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।