बिहार के बांका जिले में 18, शेखपुरा में नौ, जमुई में सात, पटना में पांच, कटिहार में तीन, औरंगाबाद में दो तथा समस्तीपुर और मुंगेर में एक-एक यानी आज एक साथ 46 पॉजिटिव मरीज मिलने से राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1079 पर पहुंच गई। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने यहां आज दोपहर में कल देर रात आई जांच रिपोर्ट जारी कर बताया कि बांका जिले के धोरैया में 24 वर्ष के दो के साथ ही 18, 20, 23, 30, 34, 38 वर्ष के छह, रजौन में 18, 22, 26, 30, 32, 36 वर्ष के छह, कटोरिया में 25, 34, 46 वर्ष के तीन और बेलहर में 25 वर्ष का एक पुरुष, शेखपुरा जिले के बरैयाबिगहा में 26 वर्ष की एक युवती, इटाहारा में 18 वर्ष का एक, चोरवार अरियारी में 20 वर्ष का एक, कुसुंभा में 33 वर्ष का एक, लटकन में 29 वर्ष का एक, दाउदपुर एटावा में 40 और 50 वर्ष के दो, अरियरी के बेलछी में 32 वर्ष का एक और बैकठपुर में 23 वर्ष के एक व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। 

कुमार ने बताया कि जमुई जिले में झाझा प्रखंड के चितोचक में 38 वर्ष की एक महिला के अलावा नौ, 12, 15, 24, 34 वर्ष के चार तथा झाझा में 38 वर्ष का एक व्यक्ति, पटना के बख्तियारपुर में 14 वर्ष की एक किशोरी के अलावा, खाजपुरा में बिहार सैन्य पुलिस (बीएमपी)-14 के 30, 33, 36 एवं 40 वर्ष के चार, कटिहार जिले के सोनाखल में 16 वर्ष का एक, मनिहारी में 28 वर्ष का एक और बिशनपुर में 33 वर्ष का एक युवक, औरंगाबाद जिले के नगर क्षेत्र में 33 और 38 वर्ष के दो, समस्तीपुर के उजियारपुर में 17 वर्ष का एक किशोर और मुंगेर जिले के जगदीशपुर में दो वर्ष का एक बच्चा भी संक्रमण का शिकार हो गया है। 

प्रधान सचिव ने बताया कि संक्रमितों में से अधिकांश दूसरे प्रदेशो से आए हुए लोग हैं, जिन्हें स्क्रीनिंग के बाद प्रखंड स्तरीय क्वारंटाइन केंद्र में रखा गया और यहीं से इनका स्वाब सैंपल जांच के लिए भेजा गया था। उन्होंने बताया कि इस तरह बिहार में एक साथ 46 पॉजिटिव पाए जाने से कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 1079 हो गई है। कुमार ने बताया कि बिहार के अब सभी 38 जिले संक्रमण प्रभावित हैं। 123 मरीजों के साथ मुंगेर जिला राज्य का सबसे बड़ा कोरोना हॉटस्पॉट है। इन संक्रमितों में से 68 स्वस्थ हो चुके हैं जबकि एक मरीज की मौत हो चुकी है। वहीं, पटना में 104 संक्रमितों में से 41, नालंदा में 66 संक्रमितों में से 37 कोरोना को मात दे चुके हैं। 

वहीं, बक्सर में मरीजों की संख्या बढकऱ 59 हो गई है, जिनमें से 56 स्वस्थ हो गए हैं। रोहतास में 77 मरीज हैं, जिनमें से एक की मौत हो गई जबकि 43 को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। सीवान में 43 में से 32 अस्पताल से घर लौट चुके हैं। कैमूर में अब 33 संक्रमितों में से 30 की तबीयत ठीक हो गई है। गोपालगंज में 24 में से 17, बेगूसराय में 47 में से 13, भोजपुर में 30 में से 18 कोरोना से जंग जीत चुके हैं। औरंगाबाद में 20 में से 12 और भागलपुर में 35 में से 10 ठीक हो गए हैं। वहीं, पूर्वी चंपारण में 14 मरीज में से एक की मौत हो चुकी है, जबकि आठ घर लौट गए हैं। मधुबनी में 33 में पांच ठीक हो गए हैं। वहीं समस्तीपुर में संक्रमितों की संख्या बढकऱ 12 हो गई है। नवादा में 27 में से चार, सारण में 10 में से सात, अरवल में 12 में से चार, पश्चिम चंपारण में 25 में से तीन और जहानाबाद में 26 में से चार की तबीयत ठीक हो गई है। 

वहीं, वैशाली में मरीजों की संख्या बढकऱ आठ हो गई, जिनमें से एक की मौत हो चुकी है जबकि दो ठीक हो गए हैं। मधेपुरा में संक्रमितों की संख्या बढकऱ 16 हो गई है जबकि दो मरीज ठीक हो चुके हैं वहीं गया में छह में से छह कोरोना को मात दे चुके थे लेकिन कई दिनों के बाद दो और पॉजिटिव मिलने से यहां कुल संक्रमित आठ हो गए हैं। खगड़यिा में मरीजों की संख्या बढकऱ 42 हो गई वहीं दरभंगा में 16 में से छह स्वस्थ हो गए हैं। शेखपुरा में 22, मुजफ्फरपुर में 18, कटिहार में 16, सहरसा में 14 एवं पूर्णिया 11, किशनगंज में 12 संक्रमित है। बांका में 30 में एक ठीक हो गया है। लखीसराय में 14 में से पांच ठीक हो गए। सुपौल में 11, अररिया में पांच मरीज बीमार हैं। सीतामढ़ी में सात में से तीन स्वस्थ्य हो गया जबकि एक की मौत हो चुकी है। शिवहर में चार में एक ठीक हो गया जबकि जमुई में 10 मरीज का इलाज चल रहा है।