बिहार में राजधानी पटना के नालंदा चिकित्स महाविद्यालय (एनएमसीएच) में कोरोना वायरस से संक्रमित सातवें मरीज की आज मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने आज यहां सातवें मरीज के निधन की पुष्टि करते हुए बताया कि 56 वर्षीय मृत महिला मरीज पटना के आलमगंज की रहने वाली थी और पहले से गॉलब्लाडर कैंसर से पीड़ित थी। 

उन्होंने बताया कि उनकी न तो कोई ट्रैवल हिस्ट्री है और न ही अभी यह पता चला है कि वह किस के संपर्क में आने से संक्रमित हुई है। कुमार ने बताया कि 28 अप्रैल को पटना चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल (पीएमसीएच) में उनका इलाज हुआ और उसके बाद आलमगंज स्थित अपने घर चली आईं। इसके बाद 04 मई को वह दानापुर चली आई और स्थानीय चिकित्सक से इलाज करवाया। 

कोरोना का लक्षण दिखाई देने के बाद चिकित्सक ने 08 मई को जांच के लिए उन्हें महावीर कैंसर संस्थान रेफर कर दिया। प्रधान सचिव ने बताया कि 08 मई को उन्हें एनएमसीएच में भर्ती कराया गया, जहां से उनका स्वाब सैंपल जांच के लिए 09 मई को राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इंस्टीच्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (आरएमआरआई) भेज दिया गया। 10 मई को आई जांच रिपोर्ट में उन्हें पॉजिटिव पाया गया। उनका इलाज चल ही रहा था कि आज सुबह सवा दस बजे मल्टी ऑर्गन फेल होने से उनकी मृत्यु हो गई। इस तरह बिहार में अब तक संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या बढकऱ सात हो गई है।