बिहार सैन्य बल (बीएमपी) के पांच जवान (कांस्टेबल) कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इसके बाद बीएमपी परिसर के कैंप को पूरी तरह सील कर दिया गया है तथा आम आदमी के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी गई है। बिहार स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने बताया, बिहार में बीएमपी के 5 जवानों को कोविड-19 से संक्रमित पाया गया है। इन सभी की उम्र 30, 36, 50, 52 और 57 साल है। उनके आगे के संक्रमण मार्ग का पता लगाया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि दो दिन पूर्व बीएमपी के एक रिटायर्ड जवान को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था। गौरतलब है कि बीएमपी परिसर खजपुरा क्षेत्र के नजदीक है, जिसमें पहले भी कोरोना वायरस से संक्रमित लोग पाए गए थे। यहां के जवानों का उस इलाके में आना-जाना लगा रहता है। इस कारण संभावना जताई जा रही है कि बीएमपी के कर्मी उसी क्षेत्र में जाने से संक्रमित हुए हों। उल्लेखनीय है कि बिहार में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी जारी है। अब तक बिहार में 585 कोरोना संक्रमितों की पहचान की जा चुकी है। राज्य में सबसे अधिक 102 मामले मुंगेर से सामने आए हैं।

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने आज यहां बताया कि मुजफ्फरपुर जिला के मुसहरी में 14, 22 और 31 वर्ष के पुरुष तथा अरवल जिला के चामंडी में 29 वर्ष के युवक और सिदरामपुर में 14 वर्ष के किशोर के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। उन्होंने बताया कि संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों के संबंध में तथा अन्य आवश्यक जानकारियां जुटाई जा रही है। मुजफ्फरपुर से यहां प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, श्री कृष्ण चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल (एसकेएमसीएच) के अधीक्षक डॉ. सुनील शाही ने बताया कि तीनों मजदूर कल ही केरल के एर्नाकुलम से श्रमिक एक्सप्रेस से मुजफ्फरपुर आये हुए थे। यहां उनकी स्क्रीङ्क्षनग हुई, जिसमें कोरोना संक्रमण का लक्षण दिखाई दिया। उन्होंने बताया कि तीनों को पहले मुजफ्फरपुर सदर अस्पताल में बने क्वॉरेंटाइन केंद्र में रखा गया था, जहां से उनका स्वाब सैंपल जांच के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया गया। आज आई रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद अब तीनों को कोविड केयर सेंटर में रखा जाएगा।