बिहार में आज एक और संक्रमित मरीज की रिपोर्ट निगेटिव आने से इस महामारी के खिलाफ जंग जीतने वालों की संख्या बढ़कर 23 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने यहां बताया कि कोरोना वायरस से बचने के लिए राज्य में सोशल डिस्टेंसिंग का फॉर्मूला तेजी से काम कर रहा है। 

उन्होंने बताया कि राज्य पिछले चौबीस घंटे के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित होने का कोई नया मामला सामने नहीं आया है और पॉजिटिव मरीजों की संख्या 64 पर स्थिर है। उन्होंने बताया कि इनमें से 23 लोगों ने कोरोना पर विजय प्राप्त कर ली है। पांडेय ने बताया कि शनिवार को जहां नालंदा चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल (एनएमसीएच), पटना में चार मरीजों ने कोरोना को मात दी है, वहीं रविवार को अनुग्रह नारायण मगध चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल (एएनएमसीएच), गया के एक कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 

इसी तरह जवाहर लाल नेहरू चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल (जेएलएनएमसीएच), भागलपुर में भर्ती एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की स्थिति में सुधार हो रहा है और उम्मीद है कि जल्द ही वे भी स्वस्थ होकर घर जाएंगे। इस बीच सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार और स्वास्थ्य विभाग के सचिव संजीव हंस ने आज यहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कि बिहार में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 64 है। अभी तक 6676 संदिग्धों की जांच कराई गई है। हंस ने बताया कि अभी 41 पॉजिटिव मरीजों का इलाज राज्य के विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। इनमें सीवान में 24, गया में चार, गोपालगंज में दो, बेगूसराय में छह, सारण में एक, भागलपुर में एक और नवादा में तीन मरीज शामिल है। 

इन पॉजिटिव मरीजों में से सात का नालंदा चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल (एनएमसीएच), पटना, दो का अनुग्रह नारायण मगध चिकित्सा महाविद्याल अस्पताल (एएनएमसीएच), गया, एक का जवाहर लाल नेहरू चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल (जेएलएनएमसीएच), भागलपुर में इलाज चल रहा है। इसी तरह गोपालगंज सदर अस्पताल में दो, छपरा में एक, बेगूसराय में छह, सीवान में 19 और नवादा में तीन मरीजों का इलाज चल रहा है।