रूस में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण के 10 हजार से ज्यादा नये मामले आने के बाद संक्रमितों का आंकड़ा 51 लाख से पार हो गया। रूस के फेडरल रिस्पांस सेंटर की बुलेटिन के मुताबिक 10,407 नये मामलों के साथ कुल संक्रमितों का आंंकड़ा 51 लाख 56 हजार 250 हो गया है। इसी अवधि में 399 और मरीज अपनी जान गंवा बैठे, जिससे इस बीमारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर एक लाख 24 हजार 895 हो गयी। रूस में पिछले 24 घंटों में 9814 मरीज स्वस्थ हुए, जिन्हें विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी दे दी गयी। यहां अब तक 47 लाख 61 हजार 899 लोग कोरोना मुक्त हो चुके हैं। 

गौरतलब है कि रूस ने जानवरों को लगने वाली वैक्सीन को भी बना लिया है। रूस में पहली बार किसी जानवर को वैक्सीन की खुराक दी गई। रूस के वैज्ञानिकों ने जानवरों के लिए कोरोना के खिलाफ कारगार वैक्सीन को तैयार कर लिया है और अब वहां जानवरों को वैक्सीन दी जा रही है।  इस वैक्सीन का नाम है कोर्निवाक-कोव और इसे मार्च में रजिस्टर किया गया था। रूसी वैज्ञानिकों की माने तो ये वैक्सीन कोरोना के खिलाफ 100 फीसदी सुरक्षा देती है। 

हालांकि जानकारों का मानना है कि अभी तक ऐसा कोई सबूत सामने नहीं आया है, जो बताता हो कि कोरोना वायरस जानवरों से इंसानों में फैला है। लेकिन दुनिया की कई प्रजातियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। नौ मई को रूसी सेना के जानवरों को कोरोना की वैक्सीन लगाई गई। रूस के वायरोलॉजिस्ट का कहना है कि ये संक्रमण जानवरों में तेजी से फैल सकता है, इसलिए इसे हराने के लिए वैक्सीन लगाना ही सबसे जरूरी है। वहीं रूस के पशु चिकित्सक का कहना है कि ये जानवरों को लगाई जाने वाली पहली वैक्सीन है।