ओडिशा में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के संक्रमण के 6097 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 8,37,226 तक पहुंच गयी, जबकि इस महामारी के संक्रमण से 44 और मरीजों की मौत के साथ मृतकों का आंकड़ा 3167 हो गया। 

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के सभी 30 जिलों से 3446 मामले क्वारंटीन केन्द्रों से और 2651 स्थानीय लोगों के संपर्क में आने से संक्रमित हुए है। राज्य के कम से नौ जिलों से नए संक्रमित मामलों की संख्या 100 से कम आयी है, जबकि अन्य नौ जिलों से 100 से 200 मामले और अन्य 12 जिलों से 200 से अधिक संक्रमित मामले सामने आए हैं। राज्य के 17 जिलों से इस अवधि में 44 और मरीजों की मौत होने से मृतकों का कुल आंकड़ा 3167 हो गया है। 

स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि राज्य के नौ जिलों में संक्रमण दर शून्य से चार फीसदी है और छह जिलों में पांच से 7.5 फीसदी, जबकि बाकी 15 जिलें में संक्रमण दर 7.5 फीसदी से अधिक है। राज्य में कल देर रात तक संक्रमण दर 6.71 फीसदी रही अभी तक कुल 1,24,57,606 नमूनों के परीक्षण में से 8,37,226 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। राज्य में ठीक होने की दर लगभग 91 प्रतिशत हो गई है, क्योंकि बुधवार को 8032 और मरीजों के स्वस्थ होने के बाद इस महामारी को मात देने वालों की कुल संख्या 7,64,673 हो चुकी है। 

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कल राज्य में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की और कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर में बच्चों की सुरक्षा के लिए सभी प्रबंध सुनिश्चित करने पर जोर दिया। उन्होंने डॉक्टरों, स्वास्थ्य कर्मियों के प्रशिक्षण के साथ-साथ बच्चों के लिए विशेष बेड आरक्षित करने और टीकाकरण की दैनिक संख्या को बढ़ाकर तीन लाख करने का भी निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने इससे पूर्व स्वीकृत 77 करोड़ के अलावा भुवनेश्वर नगर निगम के लिए 20 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। जिससे राज्य में कोविड-19 के खिलाफ जंग अच्छी तरह से लड़ी जा सके।