उत्तर प्रदेश में सरकारी प्राइमरी स्कूलों के शिक्षक, शिक्षामित्र व अनुदेशक घर से काम (वर्क फ्राम होम) कर सकेंगे। प्रदेश के बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री डॉ सतीश चन्द्र द्विवेदी ने ये निर्देश कोरोना संक्रमण के बढ़ते विस्तार को देखते हुए दिए हैं। 

डॉ द्विवेदी ने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए शिक्षण कार्य पहले ही बंद कर दिया गया था लेकिन वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए शिक्षकों, शिक्षामित्रों तथा अनुदेशकों को भी वर्क फ्रॉम होम की सुविधा दी जाएगी। लेकिन पंचायत चुनाव और अन्य आवश्यक कार्यों में दिए जाने वाले कामों को करना होगा। 

खण्ड शिक्षा अधिकारियों के 30 दिनों तक के अवकाश जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी मंजूर कर सकेंगे। 30 दिन से अधिक व 45 दिनों तक के सभी प्रकार के अवकाश मण्डलीय सहायक शिक्षा निदेशक-बेसिक मंजूर कर पाएंगे। वहीं 45 दिन से ज्यादा के सभी प्रकार के अवकाश अपर शिक्षा निदेशक मंजूर कर सकेंगे। इस संबंध में नियमावली में संशोधन कर दिया गया है। शिक्षा निदेशक सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है।

खंडपीठ ने नए सिरे से टेस्ट कराने का आदेश रद्द किया