देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने दावा किया है कि देश में कोरोना वायरस का अभी कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं हुआ है। साथ ही उन्होंने कहा कि 90 प्रतिशत एक्टिव केस देश के सिर्फ 8 राज्यों में हैं। 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में कोरोना से होने वाली 53 फीसदी मौतें 60  साल से ज्यादा उम्र के लोगों की है। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि आज हमारी चर्चा के दौरान, विशेषज्ञों ने फिर से कहा है कि भारत में कोई कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं है। कुछ खास इलाके हैं जहां ट्रांसमिशन ज्यादा है, लेकिन एक देश के रूप में कोई कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं है। 

आज हमारा रिकवरी रेट 62.08 प्रतिशत है, हमारी मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम 2.75 प्रतिशत है। हमारा डबलिंग रेट 21.8 दिन है।  उन्होंने ये भी कहा कि टीवी पर दिखाया जा रहा है कि कोरोना के कुल मामलों में भारत तीसरे नंबर पर पहुंच गया है। लेकिन ये भी देखना चाहिए कि जनसंख्या के मामले में हम दूसरे नंबर पर हैं। हमारे यहां हर 10 लाख लोगों पर सिर्फ 538 मामले आ रहे हैं, जबकि दुनिया में ये औसत 1453 है।

गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 7,67 ,29 6 पर पहुंच गई है। वहीं अब तक 21,129 लोगों की मृत्यु हो गई है। देश में 4,76,377 लोग स्वस्थ हुए हैं, जबकि फिलहाल कोरोना के 2,69,789 मामले एक्टिव हैं।

वृहस्पतिवार को संक्रमितों की कुलसंख्या 7,67,296 पर पहुंच गई। महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, दिल्‍ली, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश और आंध्र प्रदेश से करीब 75 फीसदी नए मामले सामने आए। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इस वक्‍त विश्व में 100 से अधिक वैक्सीन कैंडिडेट हैं जो अलग-अलग ट्रायल स्टेज पर हैं। भारत बायोटैक इंटरनेशनल लिमिटेड आईसीएमआर के साथ मिलकर और कैडिला हेल्‍थ केयर 2 स्वदेशी वैक्सीन बना रहे हैं। दोनों ने एनिमल स्टडी पूरी कर ली है। उन्होंने कहा कि ये वैक्सीन ड्रग्स कंट्रोल" जनरल ऑफ इंडिया के साथ शेयर की गईं। उनकी परमिशन के बाद अब ये वैक्सीन फेज 1 और 2 के क्लीनिकल ट्रायल के लिए जाएंगी।