उत्तर प्रदेश के बागपत सीएचसी आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कोरोना पॉजिटिव नेपाल का एक जमाती दरवाजा तोड़कर देर रात फरार हो गया। जांच में 58 साल का नेपाली कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। पुलिस ने अपील जारी कर कहा कि वह जहां दिखे तुरंत सूचित करें।


पिछले दिनों दिल्ली के मरकज से संक्रमण का मामला सामने आने के बाद बागपत पुलिस ने 12 जमातियों को पकड़ा था। यह शख्स भी उसी जमात में शामिल था। सभी की जांच की गई थी, जिसमें उसका रिपोर्ट पॉजिटिव आया था। उसके बाद से उसका इलाज खेकड़ा सीएचसी में चल रहा था।


जमाती को कोरोना के लिए बनाए गए लेवल-1 हस्पिटल यानी खेकड़ा पीएचसी में शिफ्ट किया गया था। यहां उसका इलाज चल रहा था, लेकिन सोमवार रात करीब एक -डेढ बजे के आसपास यह संक्रमित जमाती सीएचसी का दरवाजा तोड़कर जंगल की ओर फरार हो गया। करीब दो-ढाई बजे स्वास्थ्यकर्मियों को जब इसका पता लगा तो चारों तरफ खलबली मच गई। स्वास्थ्यकर्मियों ने इस प्रकरण से पुलिस को अवगत कराया।


कोरोना पॉजिटिव के अस्पताल से भागने के बाद बागपत के पुलिस अधीक्षक प्रताप गोपेन्द्र यादव ने आसपास के सभी जिलों में कोरोना पॉजिटिव की तलाश के लिए लोगों से अपील की है। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर जारी अपील में लिखा है कि "अस्पताल से भागे कोरोना पॉजिटिव नेपाल के सुनसारी निवासी 65 वर्षीय जमाती का उपचार सीएचसी खेकड़ा में चल रहा था। यह उपचार के दौरान अस्पताल से भाग गया है।"


यह व्यक्ति जिन-जिन लोगों से मिला, उन्हें जानलेवा कोरोना वायरस से संक्रमित कर देगा। जिस कारण इस व्यक्ति का उपचार होना अत्यधिक आवश्यक है। अनुरोध है कि उक्त व्यक्ति के मिलने की सूचना पुलिस को तुरंत दें। इस अपील के साथ पुलिस प्रशासन ने कुछ मोबाइल नंबर भी जारी किए हैं जिन पर पुलिस को इस व्यक्ति के मिलने की सूचना दी जा सकती है।


जिलाधिकारी ने बताया कि "यह मरीज कोरोना पॉजिटिव है, जो लोगों के लिए खतरा हो सकता है। ऐसे में किसी को इस व्यक्ति के बारे में जानकारी मिलती है तो तुरंत पुलिस को सूचना दें।"