देश की राजधानी एक बार फिर से कोरोना की चपेट में आती दिख रही है। हर दिन नए मामलों की सख्या में इजाफा हो रहा है। दिल्ली में सोमवार को कोरोना के 1904 नए मामले सामने आए और संक्रमण दर भी बढ़ कर  2.77% हो गई। 13 दिसंबर के बाद ये अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। 13 दिसंबर को 1984 मामले सामने आए थे। बीमारी से 6 मरीजों की मौत हुई है।

एक दिन में 68 हजार 805 लोगों की कोरोना जांच की गई है। इसके साथ ही कोरोना रिकवरी दर घटकर करीब 97 फीसदी हो गई है। सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 8 हजार 032 हो गई है। करीब साढे 3 महीने बाद सक्रिय मरीजों की यह सबसे बड़ी संख्या है। 1 दिन में कई नए हॉटस्पॉट जोन बढ़ गए हैं। 

रविवार को जारी दिल्ली सरकार की रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में 1 दिन में 952 और मरीज ठीक हुए हैं, लेकिन कई दिनों से लगातार नए मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वाले मामलों की संख्या अधिक होने से कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है।

रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में अब तक 6 लाख 59 हजार 619 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं और इनमें से 6 लाख 40 हजार 575 लोग कोरोना वायरस को मात देकर ठीक हो चुके हैं। वहीं दिल्ली में कुल मृत्यु दर 1.67% है। दिल्ली कोविड अस्पतालों के कुल 5 हजार 765 बेड में से 4 हजार 297 खाली हैं। अब दिल्ली के अस्पतालों में 1489 आइसोलेशन में 4 हजार 639 मरीज इलाज करवा रहे हैं। अस्पताल में मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है और आईसीयू में भी मरीजों की संख्या बढ़ रही है। हॉटस्पॉट जोन की संख्या बढ़कर 1849 हो गई है।