सरकार ने बड़ा ऐलान किया है कि अपनी मर्जी से जानबूझकर कोरोना पॉजिटिव होने वालों को 4 लाख रूपए दिए जाएंगे। हालांकि यह ऐलान ब्रिटेन सरकार ने किया है। इस समय प्रत्येक देश की सरकार और चिकित्सकों द्वारा लगातार कोरोना से बचाव के उपाय बताए जा रहे हैं ऐसे में अगर कोई जानबूझ कर कोरोना पॉजिटिव हो तो सुनने वाला हर व्यक्ति हैरानी में पड़ जाएगा, लेकिन ये हकीकत है। ऐसा होने जा रहा है ब्रिटेन में।

ब्रिटेन में 2,500 ब्रिटिश नागरिक जानबूझकर कोरोना पॉजिटिव होंगे। इसे 'ह्यूमन ट्रायल चैलेंज' नाम दिया गया है। ये चैलेंज लंदन के रॉयल फ्री अस्पताल में किया जाएगा। इसके बाद इन सबको वैक्सीन दी जाएगी। चैलेंज में भाग लेने वालों की उम्र 18 से 30 साल होगी।

इस Corona Challenge के जरिए 2500 लोग कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अहम भूमिका निभाएंगे। ये जानबूझ कर पॉजिटिव बड़े मकसद के लिए हो रहे हैं। ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि वैक्सीन परीक्षण के नतीजों को और बेहतर तरीके से मॉनिटर किया जा सके।

ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है बल्कि इससे पहले भी टाइफाइड, मलेरिया और फ्लू जैसी बीमारियों के लिए इस तरह के ट्रायल किए जा चुके हैं। पहले भी ट्रायल के दौरान उम्र का खास ध्यान रखा गया था। चूंकि युवा वर्ग में रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होती है इसलिए इस बार भी युवाओं को ही इस चैलेंज में शामिल किया जा रहा है।

इस चैलेंज में शामिल होने के लिए ब्रिटिश सरकार भुगतान भी करेगी। जानबूझकर कोरोना पॉजिटिव होने वाले वॉलंटियर्स को करीब चार हजार पाउंड्स यानी करीब चार लाख रुपये मिलेंगे। इन लोगों को कम से कम दो हफ्तों के लिए क्लीनिक में लॉक रखा जाएगा और बदलाव को मॉनिटर किया जाएगा।

कोरोना से बचाव के लिए दुनियाभर के देश दिन रात एक कर रहे हैं। अब तक वैक्सीन ही एक मात्र बचाव का रास्ता दिख रही है, अब ब्रिटेन ने वैक्सीन को प्रभावी बनाने की दिशा में ये बड़ा फैसला लिया है। अगर ये ट्रायल सफल हुआ तो लाखों लोगों की जिंदगियां बचाई जा सकती हैं।