देश में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1.07 लाख से अधिक मामले सामने आए है। एक दिन की अब तक की सर्वाधिक संख्या है। इस बीच, केंद्र सरकार ने आगाह किया कि अगले चार सप्ताह "बेहद महत्वपूर्ण" है और महामारी की दूसरी लहर को रोकने में लोगों को सहयोग करना चाहिए।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि लोगों ने मास्क लगाने जैसे एहतियात को "तिलांजलि" दे दी है। देश के विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, मंगलवार को संक्रमण के 1.07 लाख से अधिक मामले सामने आए, जो भारत में जनवरी 2020 में महामारी की शुरुआत होने से लेकर अब तक प्रतिदिन सामने आए मामलों की सर्वाधिक संख्या है।

देश में पिछले तीन दिन में दूसरी बार एक लाख से अधिक संक्रमण के नये मामले सामने आए हैं। गौरतलब है कि देश में बीते रविवार को 24 घंटे में संक्रमण के 1,03,558 नये मामले सामने आए थे। केंद्र सरकार ने कहा कि देश में कोविड-19 पिछले साल के मुकाबले इस साल तेजी से फैल रहा है और लोगों को महामारी की दूसरी लहर को रोकने में सहयोग करना चाहिए। केंद्र सरकार के दो उच्च अधिकारियों ने मंगलवार रात संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ऐसा हो सकता है कि देश में एक दिन में संक्रमण के एक लाख से अधिक नये मामले दोबारा सामने आएं और यह संख्या पिछली बार की तुलना में अधिक हो सकती है।

गौरतलब है कि देश में रविवार को 24 घंटे में संक्रमण के 1,03,558 मामले सामने आए थे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सुबह आठ बजे अद्यतन किये गये आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 96,982 नए मामले सामने आए थे। संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर अन्य राज्यों के साथ ही दिल्ली में भी रात्रिकालीन कर्फ्यू लगा दिया गया है, जो 30 अप्रैल तक प्रभावी रहेगा। कोविड-19 के मामलों में तेज वृद्धि के कारण टीकाकरण के लिए उम्र सीमा में ढील देने को लेकर विभिन्न हलकों से की जा रही मांग के बीच केंद्र ने कहा कि लक्ष्य सबसे जोखिम वाले लोगों को सुरक्षित करना है।