जानकारियों व सबूतों के आधार पर यह स्‍पष्‍ट तौर पर कहा जा सकता है कि कोरोना (Corona virus) का संक्रमण सभी क्षेत्रों में फैल सकता है चाहे वह गर्म हो या नमी वाला मौसम। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के अनुसार को‎विड-19 वायरस को लेकर कई भ्रामक खबरें फैली हैं जैसे गर्म जलवायु में इसका खात्‍मा हो जाएगा, जो कि पूरी तरह गलत है। इस घातक वायरस से बचने का एकमात्र तरीका खुद सतर्क रहना और पूरा एहतियात बरतना है।


साथ ही स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने सलाह दी है कि लोग अपने हाथों को बार-बार धोएं। ऐसा करने से उस वायरस को अपने हाथों से हटा सकते हैं। ताकि उन हाथों से संक्रमण आंखों, मुंह और नाक तक न पहुंच सके। नया कोरोना (Corona virus) बैक्‍टीरिया नहीं है इसलिए कोई भी एंटीबायटिक इसे खत्‍म नहीं कर सकता। हालांकि इससे पीड़ित मरीजों को एंटीबायटिक दिया जा सकता है लेकिन इसलिए कि उन्‍हें कोई बैक्‍टीरियल इंफेक्‍शन न हो सके।


एल्‍कोहल वाले सैनिटाइजर या साबुन और पानी से हाथ धोएं। हॉट बाथ से आप कोरोना (Corona virus) को दूर नहीं कर सकते हैं। आपके शरीर का सामान्‍य तापमान 36.5 - 37 ‎डिग्री से‎ल्सियस रहता है। वास्‍तव में अधिक गर्म पानी से नहाना नुकसानदायक हो सकता है। अब तक ऐसी कोई जानकारी नहीं है जिससे यह पुष्‍टि हो सके कि नया कोरोना (Corona virus) मच्‍छरों के काटने से फैलता है। नया कोरोना (Corona virus) संक्रमित लोगों के खांसी या छींक के जरिए सलाइवा के ड्रॉपलेट से फैलता है। इसलिए किसी से भी दूरी बनाकर रखें।


नए कोरोना (Corona virus) के कारण शरीर के तापमान में बढ़त को थर्मल स्‍कैनर माप सकता है। लेकिन यह नहीं बता सकता कि संक्रमित कौन है क्‍योंकि संक्रमण के 2 से 10 दिन के बाद बुखार के लक्षण दिखते हैं। पूरे शरीर पर भी अगर अल्‍कोहल या क्‍लोरीन का छिड़काव कर लें तो शरीर में पहले से ही आ चुका कोरोना (Corona virus) नहीं भाग सकता। कपड़ों पर ऐसे छिड़काव नुकसानदेह हैं। इस बात से अवगत हो जाएं कि अल्‍कोहल और क्‍लोरीन फर्श की सफाई और उससे संक्रमण दूर करने में सहायक होता है।

सबसे महत्‍वपूर्ण और गौर करने वाली बात है कि कोरोना (Corona virus) केवल बुजुर्ग या बच्‍चों को ही अपने चपेट में नहीं लेता बल्‍कि युवावर्ग पर भी खतरा है। सभी उम्र के लोग नए कोरोना (Corona virus) के चपेट में आ सकते हैं। हां बुजुर्ग और पहले से अस्‍थमा, डायबीटिज, दिल की बीमारियों से ग्रस्‍त लोगों पर अभी खतरा है लेकिन युवा वर्ग को भी सतर्क रहना जरूरी है।


विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने लोगों को सलाह दिया है कि सभी उम्र के लोग एहतियात बरतें और अपना ध्‍यान रखें। चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना (Corona virus) का सफर अब तक दुनिया के 170 से अधिक देशों में जारी है। अब तक पूरी दुनिया में संक्रमण के कुल मामलों का आंकड़ा 234,073 हो चुका है और मौत की संख्‍या 9,840 हो गई है।