विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, मेघालय (यूेसटीएम) ने खानापाड़ा स्थित अपने विवि परिसर में तीसरे दीक्षांत समारोह का आयोजन किया। इस मौके पर 17 स्नातकोत्तर और 9 अंडर ग्रेजुएट्स को स्वर्ण पदक सहित कुल 905 डिग्रियां प्रदान की गईं। इसके अलावा दो पीएचडी, 742 स्नातकोत्तर और 161 अंडर ग्रेजुएट्स द्वारा डिग्री प्राप्त की गई। दीक्षांत समारोह के अपने संबोधन में ईआरडी फाउंडेशन के अध्यक्ष व यूएसटीएम के कुलपति महबूबुल हक ने कहा कि यह विवि के लिए एक बड़ा दिन है, क्योंकि डिग्रियां देने से पता चलता है कि हम क्या हासिल कर पाए हैं। 

इस मौके पर जवाहलाल नेहरू विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एम जगदीश कुमार, भारतीय विज्ञान संस्थान, बंग्लोर के उप निदेशक प्रो. जयंत एम मोडक, बिलासपुर विवि के कुलपति प्रो. जीडी शर्मा, यूएसटीएम के कुलपति पीजी राव आदि उपस्थित थे। समारोह में एनई ईसाई विवि, नगालैंड के कुलपति प्रो. डारलैंडो खाटिंग को मानद डॉक्टरेट ऑफ साइंस की उपाधि दी गई। 

इसके अलावा केरल के त्रिवेंद्रम मेडिकल कॉलेज के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. अब्दुल गफूर को साहित्य की मानद डॉक्टरेट की उपाधि प्रदान की गई। उल्लेखनीय है कि अप्रैल 2016 में यूएसटीएम के पहले दीक्षांत समारोह में 537 छात्रों को डिग्रियां प्रदान की गई थी।