पंजाब में कांग्रेस पार्टी में विवाद लगातार जारी है। अब देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के विवादित स्केच के मामले ने तूल पकड़ लिया है। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू की वजह के सलाहकार मलविंदर सिंह माली ने यह विवादित स्केच पोस्ट किया है। इसको लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पहले ही नाराजगी जता दी है। अब कांग्रेस नेता संदीप दिक्षित ने भी लगे हाथ सिद्धू को सलाह दे दी है।

कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने पंजाब कांग्रेस प्रमुख के सलाहकार पर दिवंगत पीएम इंदिरा गांधी का विवादास्पद स्केच पोस्ट को आपत्तिजनक करार दिया है। उन्होंने कहा, ''मैं सिद्धू को माली से राजनीतिक रूप से उनसे दूरी बनाने की सलाह देता हूं, उन्हें अपनी सीमा में रहने के लिए कहना चाहिए और उन चीजों पर टिप्पणी करना बंद कर देना चाहिए जिनके बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है।''

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने पार्टी की पंजाब इकाई के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के दो सलाहकारों की कथित विवादित टिप्पणियों को लेकर सोमवार को पार्टी नेतृत्व से इस पर आत्ममंथन करने का आग्रह किया कि क्या ऐसे लोगों को पार्टी में होना चाहिए जो जम्मू-कश्मीर को भारत का हिस्सा नहीं मानते और जिनका रुझान पाकिस्तान समर्थक है।

उन्होंने सिद्धू के दो सलाहकारों प्यारे लाल गर्ग और मलविंदर सिंह माली की कथित टिप्पणियों को लेकर यह बयान दिया। पूर्व केंद्रीय मंत्री तिवारी ने ट्वीट किया, ''मैं कांग्रेस महासचिव एवं पंजाब के प्रभारी हरीश रावत से आग्रह करता हूं कि इसको लेकर गंभीरता से आत्ममंथन करें कि जो जम्मू-कश्मीर को भारत का हिस्सा नहीं मानते और जिनका स्पष्ट रूप से पाकिस्तान समर्थक रुझान है, क्या उन्हें कांग्रेस की पंजाब इकाई का हिस्सा होना चाहिए? यह उन सभी लोगों का मजाक है जिन्होंने भारत के लिए अपना खून बहाया है।''