अमेरिका और गठबंधन बलों ने काबुल एयरपोर्ट के तीन फाटकों का नियंत्रण तालिबान को सौंप दिया है।  अधिकारी इनहामुल्लाह सामानगनी ने कहा, अमेरिकी सैनिकों का एयरपोर्ट के एक छोटे से हिस्से पर नियंत्रण है, जिसमें एक ऐसा क्षेत्र भी शामिल है, जहां हवाई अड्डे का रडार सिस्टम स्थित है। 

तालिबान ने करीब दो हफ्ते पहले हवाई अड्डे के मुख्य द्वार पर विशेष बलों की एक यूनिट तैनात की थी।  उन्होंने कहा, हम एयरपोर्ट की सुरक्षा और तकनीकी जिम्मेदारी संभालने के लिए तैयार हैं।  अमेरिका ने तालिबान को एयरपोर्ट के फाटक का नियंत्रण ऐसे समय सौंपा है, जब कुछ दिन पहले 26 अगस्त को आईएस-के आतंकवादियों ने सुविधा के पूर्वी द्वार आत्मघाती हमला किया था, जिसमें 170 अफगान और 13 अमेरिकी सैनिक मारे गए थे। 

इससे पहले तालिबान के एक अधिकारी ने कथित तौर पर कहा था कि समूह के विशेष बल और तकनीकी पेशेवरों और योग्य इंजीनियरों की एक टीम अमेरिकी बलों के जाने के बाद हवाई अड्डे के सभी प्रभार लेने के लिए तैयार हैं।  सैन्य विमानों समेत दर्जनों विमानों ने शनिवार देर रात से एयरपोर्ट से उड़ान भरी।  राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा निर्धारित समय सीमा के अनुसार, सभी अमेरिकी और गठबंधन बलों के 31 अगस्त को देश छोड़ने की उम्मीद है। 

वहीं तालिबान ने काबुल के निवासियों से सरकारी वाहन, हथियार और गोला-बारूद उनके पास सौंपने का निर्देश दिया है।  काबुल में रहने वाले सभी लोगों को वाहन, हथियार और गोला-बारूद या किसी भी अन्य चीजों सहित सभी सरकारी संपत्ति वापस करने के लिए सूचित किया गया है।