देश के दक्षिणी राज्यों में जबरदस्त तबाही मचा रहे चक्रवाती तूफान ताउते का असर उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र तक नजर आ रहा है। इस तूफान के प्रभाव में मई की भीषण गर्मी के बीच अचानक मौसम में जबरदस्त बदलाव नजर आया है। रविवार रात से रूक रूक कर लेकिन लगातार हो रही बारिश सोमवार को भी बास्तूर जारी रही, जिसने मौसम सुहावना कर दिया। इस संबंध में मौसम वैज्ञानिक डॉ. मुकेश चन्द्रा ने सोमवार को बताया कि चक्रवाती तूफान का हल्का असर बुन्देलखंड के सभी जनपदों में देखने को मिलेगा। 

यही नहीं आज सुबह से जो मौसम का मिजाज हुआ है,वह आगामी दो तीन दिनों तक रह सकता है। कहीं कहीं बारिश हल्की और कहीं तेज भी हो सकती है। उन्होंने बताया कि मौसम में आए परिवर्तन के चलते तापमान जो करीब 40 डिग्री सेल्सियस तक था,अब 34 या 35 डिग्री सेल्सियस तक ही रहेगा। इससे गर्मी से राहत महसूस होगी। सुबह से अब तक अधिकांश जिलों में भगवान भास्कर के भी दर्शन नहीं हुए हैं। रह रहकर तेज हवाएं भी चल रहीं हैं जो किसी तूफानी स्थिति का अहसास दिला रही हैं। कहीं कहीं पर सुबह से ही रिमझिम बारिश भी हो रही है, तो कहीं केवल ठण्डी हवाएं बदले मौसम का अहसास दिला रही हैं। 

कुछ भी हो इस सबके चलते मौसम में गर्मी से राहत मिली है। मौसम वैज्ञानिक के अनुसार यह स्थिति आगामी दो तीन दिनों तक रहने वाली है। मुंबई व गोवा में तबाही मचाने के बाद गुजरात की ओर बढ़ रहे साल 2021 के पहले चक्रवाती तूफान टाऊते का असर बुन्देलखण्ड में भी देखने को मिल रहा है। बुन्देलखण्ड में उत्तर प्रदेश के सभी सातों जिलों समेत मध्य प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में भी इसका असर देखने को मिल रहा है। 

झांसी, ललितपुर, जालौन, महोबा आदि जनपदों में सुबह से ही रिमझिम बारिश का दौर जारी है तो वहीं हमीरपुर,बांदा व चित्रकूट जनपद में आसमान में बादल झाए हैं, रह रहकर ठण्डी तेज हवाएं बह रही हैं। इसके अलावा सीमा से लगे हुए मध्य प्रदेश के दतिया,निवाड़ी व टीकमगढ़ जिलों में भी इसका असर देखने को मिल रहा है। आसमान में बादलों के छाए होने के चलते सूर्य के दर्शन भी नहीं हुए हैं। सुबह से ही चल रहे रिमझिम बारिस के दौर ने मौसम को सुहावना बना दिया है। तापमान में भी एकाएक गिरावट आ गई है। इससे लोग गर्मी से राहत महसूस कर रहे हैं।