मेथी (benefits of fenugreek) का इस्तेमाल भारतीय व्यंजनों में बेहद आम है। आमतौर पर इसका स्वाद कड़वा होता है। लेकिन इन कड़वे बीजों के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। यह मधुमेह (diabetes) को नियंत्रित करने से लेकर कैंसर को रोकने, पाचन समस्याओं को कम करने और एसिड रिफ्लक्स का इलाज तक करने में कारगर है। इंटरनेशनल जर्नल फॉर विटामिन एंड न्यूट्रिशन रिसर्च में प्रकाशित 2015 के अध्ययन में पता चला कि 10 ग्राम मेथी को भिगोकर उसको रोजाना लेने से टाइप-2 डायबिटीज (type 2 diabetes) को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। मेथी का पानी उन लोगों में ब्लड शुगर (blood sugar) को भी कम करता है जिन्हें डायबिटीज की शिकायत होती है।

बता दें कि मेथी के दानों में सॉल्यूबल फाइबर (soluble fiber) बहुत ज्यादा मात्रा में होता है जो कि कार्बोहाइड्रेट को शरीर में पहुंचने की प्रकिया को धीमा कर देता है। इससे भोजन के पाचन की प्रक्रिया के दौरान रक्त के अंदर ग्लूकोज की मात्रा थोड़ी-थोड़ी मिलती है और ब्लड शुगर नियंत्रण में रहता है। मेथी दाना (benefits of fenugreek) में पाए जानेवाला 4-हाइड्रॉक्सीइसल्यूसीन नामक एक एमिनो एसिड रक्त के अंदर मौजूद शुगर को तोडकऱ उसका स्तर कम करता हैं। इससे ब्लड में इंसुलिन की मात्रा बढ़ती है और डायबिटीज कंट्रोल में रहता है। अगर आप मेथी दाना का रोजाना सेवन करें तो यह आपके मेटाबॉलिजम को सही रखने का भी काम करता है। जिससे चाहे आप टाइप-1 डायबिटीज के मरीज हों या टाइप-2 डायबिटीज के, दोनों ही स्थितियों में काफ़ी मदद मिलती है।

घरेलू नुस्खे में मेथी का प्रयोग

- मेथी (fenugreek) को रात भर भिगोकर रख दें और सुबह उसका पानी पीएं।

- इसके बीज को व्यंजनों में इस्तेमाल करें।

- अगर आप चाहे तो मेथी के बीजों को अपने भोजन में उपयोग करने से पहले कम से कम तीन से चार घंटे के लिए गर्म पानी में भिगो सकते हैं। इससे मेथी के गुणों का पूरा इस्तेमाल सही से हो पाएगा।

- मेथी के सेवन का सही तरीका क्या है?

एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच मेथी दाना (benefits of fenugreek) डालें और इसे लगभग 10 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। उसके बाद इसे छान लें और मेथी वाले पानी में स्वाद के लिए नींबू और एक चुटकी शहद डालकर उसे पी लें। आप रोटी, करी, सलाद, पराठे, डोसा, इडली और तले हुए व्यंजन में एक चम्मच सूखी मेथी भी मिला सकते हैं।