मेघालय विधानसभा चुनाव मेें मात्र पांच दिन रह गए है। राज्य की 59 सीटों के लिए राज्य में 27 फरवरी को चुनाव है आैर चुनाव के नतीजों की घोषणा तीन मार्च को होगी। इस बार मुख्य मुकाबला कांग्रेस और एनपीपी के बीच होने वाला है हालांकि बीजेपी भी चुनाव में जीत के लिए पूरा जोर लगा रही है। 


तुरा सीट पर हमेशा से ही एनपीपी का कब्ज़ा रहा है इस सीट पर कोनराड संगमा के पिता और पीए संगमा जो पहले कांग्रेस में शामिल थे उन्होंने 1977 से इस सीट पर जीत के साथ खाता खोला था और उसके बाद 1980 ,1984, 1991, 1996 और बाद में 1998 कांग्रेस छोड़ एनसीपी चुनाव लड़े और जीत हासिल की इसके बाद भी पीए संगमा रुके नहीं उन्होंने 1999 , 2004 ,2006 और 2014 में भी तुरा सीट से जीत हासिल की लेकिन फिर 2016 में पीए संगमा की मृत्यु के बाद यह सीट खाली हो गई और गद्दी संभाली उन्ही के बेटे कोनार्ड संगमा ने। 

कोनराड संगमा ने वर्ष 2016 में तुरा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था जो उनके पिता पीए संगमा के निधन के बाद खाली हो गई थी। कोनराड संगमा ने अपनी सबसे बड़ी प्रतिद्वंदी और मेघालय के सीएम की पत्नी डिक्कांची डी शिरा को हराया था। दोनों के बीच जीत का अंतर 1.93 लाख वोट था। कोनार्ड ने गारो हिल्स में कुल 24 सीटों में से 22 पर कांग्रेस विधायक होने के बावजूद जीत हासिल की थी। हालांकि इस बार मुकुल संगमा चुनाव नहीं लड़ रहे हैं लेकिन वो राज्य में पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए जोरदार तरीके से प्रचार प्रसार कर रहे हैं । उधर नैशनल पीपुल्स पार्टी गैर कांग्रेस दलों के लिए बीजेपी द्वारा बनाए गए नार्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस (नेडा) का हिस्सा है। हालांकि ईसाई बहुल मेघालय में एनपीपी अकेले चुनाव लड़ रही है। आपको बता दें कि राज्य में कांग्रेस 60 और एनपीपी 53 सीटों पर चुनाव लड़ रही है।


बात करें अगर सीट की तो तुरा मेघालय के दो संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में से एक है और पश्चिमी गारो हिल्स के जिले की नगरपालिका है। तुरा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र (निर्वाचन क्षेत्र 2) में कुल मतदाताओं की कुल संख्या 505,774 है जिसमें 254,723 पुरुष और 251,051 महिलाएं हैं, क्योंकि भारतीय चुनाव आयोग 2009 आंकड़े बताते हैं। यह सीट एसटी श्रेणी के लिए आरक्षित है।


1971 के बाद बनी तुरा विधानसभा सीट में 24 विधानसभा क्षेत्रों आते हैं। यह पश्चिम गारो हिल्स की जिला राजधानी है और यह राज्य के सबसे बड़े शहरों में से भी एक है। इसकी लगभग 60,000 जनसंख्या है, जिनमें से 51% पुरुष हैं यहां लिंग अनुपात प्रति 1,000 पुरुषों में 952 महिलाएं हैं। तुरा  का कुल क्षेत्रफल लगभग 18 वर्ग किलोमीटर है और यह लगभग 350 मीटर की औसत ऊंचाई पर है। गुवाहाटी से करीब 220 किमी दूरी पर स्थित है  तुरा हिल्स।

 संगमा का शुरूआती जीवन पीए संगमा के पुत्र कोनराड संगमा इस समय मेघालय विधानसभा में नेता विपक्ष हैं। 1977 में जन्मे कोनराड मेघालय के पश्चिम गारो हिल्स जिले की सेलसेल्ला विधानसभा सीट से विधायक हैं। इससे पहले 2008 में, वह 30 साल की उम्र में सबसे कम आयु के राज्य सरकार के वित्त मंत्री बने। कोनराड ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत 1990 में अपने पिता के चुनाव अभियान प्रबंधक के रूप में की थी।


संगमा का राजनीतिक सफर

उन्होंने 1990 के दशक के अंत में अपना कैरियर शुरू किया, जैसा कि उनके पिता के लिए अभियान प्रबंधक, पी. ए।संगमा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी वह पहली बार राज्य विधानसभा के लिए अपने भाई जेम्स संगमा के साथ चुने गए थे, दोनों ने 2008 के राज्य चुनावों में एनसीपी के सदस्यों के रूप में और बाद में वित्त, बिजली, पर्यटन, जीएडी और आईटी समेत राज्य के मंत्रिमंडल में कई महत्वपूर्ण पोर्टफोलियो का आयोजन किया।


2009 से 2013 तक उन्होंने मेघालय विधान सभा में विपक्ष के नेता का पद संभाला था। वह वर्तमान में तुरा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र से संसद सदस्य हैं, जिन्हें उन्होंने अपने पिता की मृत्यु के बाद चुनाव में जीता था।  संगमा मेघालय के पूर्व मुख्यमंत्री के पुत्र हैं और लोकसभा के अध्यक्ष भी हैं, पीए संगमा, उनकी बहन, अगाथा संगमा 15 वीं लोकसभा और पूर्व केन्द्रीय कैबिनेट मंत्री राज्य मंत्री थे, जबकि उनके भाई जेम्स संगमा मेघालय विधान सभा में विपक्षी चीफ है।