गुवाहाटी। भाजपा के वरिष्ठ नेता व राज्य के वित्त, शिक्षा व स्वास्थ्य मंत्री डा. हिमंत विश्व शर्मा ने कहा कि 2वीं सदी होने के बावजूद राहुल गांधी ने कांग्रेस को वंशवादी और सामंती राजनीति से मुक्त करने का ऐतिहासिक अवसर गंवा दिया । 


उन्होंने दावा किया कि सोमवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष पद  के लिए नामांकन पत्र दाखिला  करने से पार्टी के आम कार्यकर्ता अपमानित और ठगा-सा  महसूस कर रहा है । भगवा पार्टी में शामिल होने से पहले असम में कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में शामिल डा. शर्मा ने अपने टूवीट में कहा कि भीषण अपारदर्शी प्रक्रिया में कांग्रेस अध्यक्ष के लिए नामांकन दाखिल करने के तैयार होकर राहुल गांधी ने साधारण कार्यकर्ताओं का अपमान किया है । 

एक अन्य टूवीट में डा. शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के लिए अपना खून पसीना बहाने वाले लोग आज पार्टी के भीतर पारदर्शिता की भीषण कमी पर रो रहे है । भगवान भला करें । बहरहाल, कांग्रेस ने डा. शर्मा पर पलटवार करते हुए कहा कि उन्हें पार्टी का इतिहास पता नहीं है। 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रद्युत बरदले ने कहा कि पार्टी के लंबे इतिहास मे गांधी परिवार से केवल कुछ ही कांग्रेस अध्यक्ष हुए है । राहुल के नामांकन पर उन्होंने कहा कि प्रक्रिया आठ महीने पहले शुरू हुई थी और इसमे सभी लोकतांत्रिक तकाजे का पालन हुआ।