कांग्रेस नेता राहुल गांधी बुधवार को लगातार तीसरे दिन जैसे ही प्रवर्तन निदेशालय कार्यालय पहुंचे, पार्टी कार्यकर्ताओं ने वरिष्ठ नेताओं के साथ सरकार के खिलाफ ईडी कार्यालय के बाहर धरना दिया। महिलाओं सहित कई कांग्रेस कार्यकर्ताओं को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया। वहीं राहुल गांधी से ED की पूछताछ के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं ने प्रवर्तन निदेशालय के बाहर टायर जलाकर प्रदर्शन किया।

ये भी पढ़ेंः इंडियन आर्मी का एक और बड़ा एक्शन, लश्कर ए तैयबा से जुड़े दो आतंकियों को मौत की नींद सुलाया


ईडी कार्यालय से कम से कम 1 किमी पहले सभी लोगों को रोका गया क्योंकि पुलिस ने बैरिकेड्स लगाकर सड़क को बंद कर दिया था। कांग्रेस कार्यकर्ता बैरिकेड्स के ठीक सामने बैठ गए और अपने नेता के पक्ष में और केंद्र में वर्तमान सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि क्या हम आतंकवादी हैं? तुम हमसे क्यों डरते हो? वे कांग्रेस नेता- कार्यकर्ता पर पुलिस बल का इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये सरकार अपराधी है, अगर ये अपराधी न होते तो प्रजातंत्र की धज्जियां नहीं उड़ाते। प्रशासन को कुछ कहते हैं तो ये बोलते है कि हमें ऊपर से निर्देश दिए गए हैं, यानि इन्हें मोदी-शाह ने निर्देश दिया है। हिंदुस्तान में ऐसी बर्बरता पहले नहीं देखी गई।


वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि पूरे देश में जो हालात है वो सबके सामने हैं। तीन दिन से हमलोग दिल्ली में है और पहले दिन 200 लोगों को अनुमति दी गई, कल कुछ नेताओं को अनुमति दी गई और आज तो हद हो गई कि हम अपने स्टाफ को भी नहीं ला सकते हैं। हमसे कहा गया कि केवल दो मुख्यमंत्री ही आ सकते हैं और लोग नहीं आ सकते हैं।