प्रदेश के मंत्री रोनी वी लिंग्दोह ने विश्वास भरे लहजे में कहा है कि तमाम विरोध होने के बावजूद राज्य में कांग्रेस की ही पुन: सरकार बनेगी। उन्होंने यहां पत्रकारों को बताया कि साल 2018 में होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस फिर से सत्ता में वापसी करेगी। राज्य में विकास जिस गति से हो रहा है, जनता इस पर अपने विश्वास कायम रखते हुए कांग्रेस को पहली पसंद मानेगी। 

लिंग्दोह को विश्वास है कि अगली बार कांग्रेस अपने बल पर सरकार गठन करने में कामयाब रहेगी। मालूम हो कि मुकुल संगमा की अगुवाई में चल रही एमयूए-2 सरकार में कांग्रेस के 30, एनसीपी के दो और एक निर्दलीय विधायक है। मंत्री लिंग्दोह का स्पष्ट कहना है कि नापसंद होने के बावजूद मुख्यमंत्री के रूप में मुकुल संगमा सभी को स्वीकार्य हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा अन्य पार्टियों से अलग है। राष्ट्र के प्रति समर्पित एवं सभी समुदायों को एक साथ लेकर चलने में कांग्रेस विश्वास रखती है। वह विकास को अपना मूल मंत्र मानती है। 

वहीं राज्य मंत्रिमंडल से दो मंत्रियों को हटाए जाने के बारे में उन्होंने कहा कि लगता है कि विधायक प्रेस्टन टाइनसोंग व एस धर पार्टी छोड़ सकते हैं। हालांकि वे इस कैबिनेट में फेरबदल का समर्थन करते हैं। नए चेहरे को नई जिम्मेदारी देना अच्छी बात है। मीडिया में आई कई खबरों को उन्होंने खारिज करते हुए कहा कि चुनाव पूर्व कोई विधायक पलायन करने वाला है, ऐसा नहीं लगता। पार्टी से बड़ा कोई नहीं, इसलिए तो विधायक हैं।