कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और गुजरात के पूर्व सांसद सागर रायका सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो गए। पार्टी महासचिव तरुण चु्ग और सांसद विनोद चावड़ा की मौजूदगी में उन्होंने भाजपा मुख्यालय में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। भाजपा परिवार में रायका का स्वागत करते हुए चुग ने आरोप लगाया कि कांग्रेस की गुजरात इकाई अपने केंद्रीय नेतृत्व की तरह नेतृत्वविहीन, दिशाहीन और नीतिविहीन हो गई है।

रायका के भाजपा में शामिल होने को गुजरात की राजनीति का एक महत्वपूर्ण पड़ाव करार देते उन्होंने कहा, 'अब वहां कांग्रेस में कोई बचा नहीं है... एक बड़ा चेहरा आज भाजपा में शामिल हुआ है। उनके अनुभवों से भाजपा का जनाधार और बढ़ेगा।' इस अवसर पर रायका ने कहा कि वह 46 वर्षों से कांग्रेस में काम कर रहे थे, लेकिन आज वहां कांग्रेस में नेतृत्व का संकट पैदा हो गया है। उन्होंने कहा, 'क्या निर्णय लेना र्है? कैसे काम करना है? इसका कोई ठिकाना नहीं है।'

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस में पार्टी संविधान के खिलाफ काम और मनमाफिक निर्णय हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि नए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जगदीश ठाकोर की नियुक्ति में परामर्श का अभाव रहा। रायका ने कहा कि कांग्रेस के नेता लोगों से दूर हो गए हैं और कांग्रेस में कोई ज्यादा आशा नहीं दिखी, इसलिए उन्होंने भाजपा में शामिल होने का फैसला किया।

उन्होंने कहा, 'आज देश में जिस तरह से विकास हो रहा है, जिस प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही हैं, मैंने भी सोचा कि किसी प्रकार से मैं भी इसमें योगदान दूं।' गौरतलब है कि सागर रायका उत्तरी गुजरात के दिग्गज नेताओं में शामिल रहे हैं। वह अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) समुदाय पर मजबूत पकड़ रखने वाले नेता माने जाते हैं।