चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के कांग्रेस में शामिल होने को लेकर अटकलों का दौर जारी है। इसी बीच अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी कांग्रेस को फिर से तैयार करने की कोशिश में जुट गई हैं। 

यह भी पढ़े : राशिफल 26 अप्रैल: इन 3 राशि वालों के लिए आज का दिन लाभकारी, सूर्यदेव को जल अर्पित करते रहें


खबर है कि किशोर की तरफ से दी गई प्रेजेंटेशन के कुछ दिनों बाद ही सोमवार को पार्टी ने एक और आंतरिक समूह एम्पावर्ड एक्शन ग्रुप 2024 गठित किया है, जो पार्टी के सामने मौजूद सियासी चुनौतियों पर काम करेगा। हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं है कि इसमें कौन-कौन शामिल होगा। कहा जा रहा है कि सोमवार को ही जनपथ पर पार्टी नेताओं की एक अहम बैठक हुई थी।

यह भी पढ़े : Diamond Crossing: भारत का अनोखा रेलवे ट्रैक, यहां चारों दिशाओं से आती है ट्रेनें फिर भी आज तक नहीं हुई कोई टक्कर


किशोर के प्रस्ताव पर विचार के गठित 8 सदस्यीय समूह से सोनिया गांधी ने मुलाकात की है। रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि कमेटी किशोर की तरफ से बताए गए अधिकांश सुझावों पर सहमत है। पार्टी ने आधिकारिक रूप से यह घोषणा भी कर दी है कि वह एक संकल्प चिंतन शिविर आयोजित करेगी। 13 मई से 15 मई तक राजस्थान के उदयपुर में होने वाले इस  सत्र में देशभर के 400 कांग्रेस नेता शामिल हो सकते हैं।

अखबार के अनुसार, कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, 'किसानों और खेत मजदूर, अनुसूचित जाती, अनुसूचित जनजातियों, अन्य पिछड़ा वर्गों, धार्मिक और भाषाई अल्पसंख्यकों के कल्याण और महिला सामाजिक न्याय और युवा और सशक्तिकरण से जुड़े मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की जाएगी। इसके साथ ही संगठन को फिर से तैयार करने और मजबूत करने पर बात की जाएगी। चिंतन शिविर में 2024 चुनाव के लिए कांग्रेस की रणनीति पर भी विचार होगा।'

रिपोर्ट के अनुसार, पार्टी पहले ही सत्र में पास किए जाने वाले प्रस्ताव के मसौदे तैयार करने के लिए 6 समितियां गठित कर चुकी है। राजनीतिक प्रस्ताव तैयार करने वाली समिति के प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे होंगे। जबकि, आर्थिक हालात के प्रस्ताव समिति के अध्यक्ष पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम होंगे। G-23 समूह में शामिल हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा किसानों और खेती से जुड़ी समिति के मुखिया होंगे। 

समाजिक न्याय की अगुवाई सलमान खुर्शीद करेंगे और संगठन से जुड़े मामलों की समिति की कमान मुकुल वासनिक के हथों में होगी। युवा और सशक्तिकरण को लेकर गठित समिति का काम पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वडिंग देखेंगे। 

यह भी पढ़े : अब Twitter को चलाएंगे एलन मस्क, 44 अरब अमेरिकी डॉलर में डील फाइनल हुई, जानिए डील के बारे में 


किशोर की प्रजेंटेशन पर विचार करने वाले समूह में पी चिदंबरम, अंबिका सोनी, प्रियंका गांधी वाड्रा, दिग्विजय सिंह, जयराम रमेश, मुकुल वासनिक, केसी वेणुगोपाल और रणदीप सुरजेवाला हैं। खास बात है कि कांग्रेस की यह बैठक ऐसे समय पर हुई है, जब कुछ दिनों पहले ही IPac ने तेलंगाना राष्ट्र समिति के साथ 2023 चुनाव के लिए डील साइन की है। रिपोर्ट के अनुसार, सूत्रों का कहना है कि कई नेता इस बात से नाराज हैं कि IPac ऐसे समय पर विपक्षी टीआरएस के साथ आई है, जब किशोर की कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के साथ बातचीत जारी है।