राज्य की तीन लोकसभा सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवार को विजयी बनाने पर पार्टी के नेता-कार्यकर्ताओं के प्रति आभार प्रकट करने के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के संयुक्त सचिव हरीपाल रावत ने विगत 16 व 17 जून को तीनों लोकसभा क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर पार्टी की बैठक में हिस्सा लिया। मालूम हो कि रावत को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से इस काम के लिए विशेष रूप से भेजा गया था। उन्होंने 16 जून को बंगाईगांव और बरपेटा जिला कांग्रेस कार्यालय के अलावा नलबाड़ी सर्किट हाउस में पार्टी के नेता-कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की।

इस बैठक में उक्त जिला इकाईयों के पार्टी अध्यक्ष के अलावा अन्य पदाधिकारी-कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। इस कड़ी में उन्होंने 17 जून को नगांव जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यालय में नगांव और कलियाबर लोकसभा क्षेत्र के नेता-कार्यकर्ताओं को लेकर आयोजित पार्टी की एक बैठक में शिरकत की। इस बैठक में रोहा, नगांव, कलियाबर, सामागुड़ी, रूपही, बटद्रवा, धिंग और बढ़मपुर विधानसभा क्षेत्र के मंडल व प्रखंड स्तर की पार्टी इकाई के नेता-पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया।


होजाई जिले के डबका में शाम को आयोजित एक बैठक में रावत ने पिछले लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के उम्मीदवार को जिताने के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से सभी के प्रति आभार प्रकट किया और पार्टी को जन-जन तक पहुंचाने के लिए निरंतर काम करने की जरूरत बल दिया। इन सभी बैठकों में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दिए गए त्यागपत्र को वापस लेने का अनुरोध करते हुए गांधी के अलावा पार्टी के असम प्रभारी हरीश रावत को एक प्रस्ताव प्रेषित करने का निर्णय लिया गया।


इसके अलावा पार्टी की बैठकों में ईवीएम की जगह बैलेट पेपर के माध्यम से मतदान कराने की भी जरूरत बताई। इसके अलावा सभी बैठकों में निष्क्रिय पड़े बूथ एवं मंडल स्तर का पार्टी इकाई के अध्यक्ष को बर्खास्त करने की भी मांग जोर-शोर से उठाई गई। इन सभी बैठकों में रावत के साथ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव अनवर अहमद ने भी शिरकत की।