कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार इमरान प्रतापगढ़ी की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। जिसमें वह कानपुर हिंसा के मुख्य आरोपी हयात जफर हाशमी के साथ पोज देते हुए नजर आ रहे हैं। पार्टी सूत्रों के अनुसार, यह तस्वीर हाल ही दिनों की है, क्योंकि वह हाशमी प्रतापगढ़ी को गुलदस्ता देकर सम्मानित करते नजर आ रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः ओडिशा कैबिनेट में बड़े बदलाव की तैयारी, सभी मंत्रियों ने दिया इस्तीफा


कांग्रेस के कुछ नेता और कार्यकर्ता पहले से ही इमरान प्रतापगढ़ी की उम्मीदवारी का विरोध कर रहे थे। पार्टी के अधिकांश दिग्गजों ने उन्हें अयोग्य उम्मीदवार करार दिया था। प्रतापगढ़ी इससे पहले एक ऑडियो क्लिप को लेकर चर्चाओं में आए थे। जिसमें वह माफिया डॉन मुख्तार अंसारी से बात करते हुए सुने जा सकते थे।

ये भी पढ़ेंः भाजपा ने जातीय जनगणना में आशंकाओं को फिर दोहराया, नीतीश ने किनारा किया


कानपुर उपद्रव का मास्टरमाइंड हयात जफर हाशमी पिछले कुछ सालों विभिन्न गतिविधियों में शामिल रहा है। वह सरकारी कोटे के तहत घर में राशन की दुकान चलाता है। बताया जा रहा है कि उसने कई अवैध संपत्तियां हासिल की हैं। बताया जा रहा है कि हाशमी ने ही सोशल मीडिया के जरिए भीड़ को एकत्रित की थी। हाशमी पर आरोप है कि उसने एक पारिवारिक मामले में अपनी बहन और मां को उकसाया था। दोनों ने कानपुर डीएम ऑफिस के बाहर आग लगा ली थी। बाद में दोनों की मौत हो गई थी।