बिहार में एकबार फिर महागठबंधन टूट ((mahagathbandhan bihar break)) गया है। इस वजह से यहां कांग्रेस ने 2024 लोकसभा चुनाव में सभी 40 सीटों पर अकेले लड़ने की घोषणा कर दी है। कांग्रेस बिहार (Bihar Congress) प्रभारी भक्त चरण दास ने इसका ऐलान किया है। उन्होंने महागठबंधन में टूट के लिए लालू यादव की पार्टी आरजेडी को जिम्मेदार ठहराया। बिहार में पिछले साल विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस, राजद और लेफ्ट पार्टियों ने मिलकर महागठबंधन बनाया था जो अब टूट चुका है।


गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से राजद (RJD) और कांग्रेस में कुछ ठीक नहीं चल रहा था। इसी वजह से राज्य की दो विधानसभा सीटों तारापुर और कुशेश्वरस्थान पर उपचुनाव हो रहा है। ऐसे में आरजेडी ने इन सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान किया था। इसके बाद कांग्रेस ने भी दोनों सीटों से अपने उम्मीदवारों को उतारने का ऐलान कर दिया है।

गठबंधन ((mahagathbandhan bihar) से नाता तोड़ने के बाद बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्त चरण दास ने आरजेडी पर निशाना साधा है उन्होंने आरोप लगाया कि कि भाजपा से समझौते के कारण आरजेडी ने कांग्रेस का साथ छोड़ा है और उपचुनाव के बाद राजद और भाजपा हाथ मिला सकते हैं। हालांकि इस पर आरजेडी ने कहा था कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष को बिहार की राजनीति की जमीनी समझ नहीं है।