अरूणाचल प्रदेश कांग्रेस इकाई ने गुरुवार को नागरिकता संशोधन विधेयक 2016 का विरोध करते हुए इस विधेयक को निरस्त करने की मांग कर हुए पार्टी कार्यालय से सचिवालय तक मार्च निकाला।


पार्टी सूत्रों ने अनुसार कांग्रेस प्रदेश के अध्यक्ष ताकम संजोय और कार्यकताओं ने केन्द्र की भाजपा नीत राजग सरकार और राज्य सरकार के विरोध में हाथों में काले झंडे ,पोस्टर और नारे लिखे हुए बैनर लेकर पार्टी कार्यालय से सचिवलाय तक मार्च निकाला।


इन पोस्टरों पर लिखा था 'हम नागरिकता विधेयक का विरोध करते है विदेशियों बाहर जाओ' संजोय ने कार्यकताओं के साथ मार्च का नेतृत्व किया और विधेयक के विरोध में सचिवालय के बाहर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री पेमा खांडू का पुतला भी जलाया।



संजोय ने संवाददाताओं से कहा, नागरिकता संशोधन विधेयक 2016 एक कठोर विधेयक है और एक धर्म विशेष को नागरिकता प्रदान करने का आधार बनाया गया है। यह सांप्रदायिक है और अगर इसे निरस्त नहीं किया गया तो यह विदेशियों के अरूणाचल में भारतीय नागरिक बनने का लाइसेंस बन जायेगा।


संजोए ने मुख्यमंत्री पर हमला करते हुए कहा, 'जिस तरह से खांडू ने इस विधेयक का समर्थन किया हैं मैं व्यक्तिगत रूप से कांग्रेस की ओर से इसकी निंदा करता हूं। उन्हें अपना बयान वापस लेना चाहिए। विधेयक पर कैबिनेट की बैठक में चर्चा कराई जानी चाहिए।' उन्होंने कहा कि इस विधेयक के विरोध में पार्टी कार्यकर्ता सभी जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन करेंगे।