कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल कर दिया। थरूर शुरु से ही पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव मैदान में हैं। नामांकन पत्र लेने से पहले उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात की थी और उनसे अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने की इजाजत मांगी थी। 

ये भी पढ़ेंः योगी सरकार का कर्मचारियों को दिवाली गिफ्ट, मिलेगा डीए और बोनस का तोहफा


इस बीच राज्यसभा में विपक्ष के नेता एवं कांग्रेस के वरिष्ठ सदस्य मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि वह पार्टी अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे। खड़गे के समर्थन में कांग्रेस के कई नेताओं ने बयान दिया है। भारत जोड़ो यात्रा के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह ने यात्रा बीच में छोड़कर गुरुवार को दिल्ली पहुंचते ही कहा कि वह अध्यक्ष पद के लिए नामांकन करने के लिए आये हैं, लेकिन एक दिन बाद सिंह ने कहा कि वह खड़गे को समर्थन देने के लिए नामांकन नहीं करेंगे। 

ये भी पढ़ेंः संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कह दी बड़ी बात, मांस खाने वालों के छूटेंगे पसीने


युवा नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी खड़गे की उम्मीदवारी का समर्थन किया। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजस्थान में हुए राजनीतिक घटनाक्रम के बाद इस दौड़ से बाहर हो गये हैं, लेकिन उनके विरोधी गुट के नेता सचिन पायलट के समर्थन दिल्ली में प्रदर्शन करके पायलट को अध्यक्ष बनाने की मांग कर रहे हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने पार्टी के अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने से पहले शुक्रवार को राजघाट पहुंचकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी। थरूर ने ट्वीट किया,  भारत के लिए 21वीं सदी की राह बनाने वाले व्यक्तित्व को आज सुबह श्रद्धांजलि दी। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के शब्दों को दोहराते हुए कहा कि भारत एक पुराना, लेकिन एक युवा राष्ट्र है ... मैं मानवता की सेवा में भारत के मजबूत, स्वतंत्र, आत्मनिर्भर और दुनिया के सभी राष्ट्रों से आगे होने का सपना देखता हूं।