मिजोरम विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को नुकसान तो भाजपा को फायदा हो रहा है। कांग्रेस मंत्री बुद्ध धन चकमा ने मंगलवार को पार्टी छोड़ी आैर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में बुधवार को आैपचरिक तौर पर पार्टी में शामिल हुए। 40 सदस्यीय विधानसभा के लिए इस साल 28 नवंबर को चुनाव होगा आैर शाह ने मां कामाख्या देवी का आर्शीवाद लेकर राज्य में चुनावी प्रचार का बिगुल बजा दिया है ।


कामाख्या देवी के दर्शन के बाद आर्इजोल पहुंचे शाह ने कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया आैर कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले पूर्व मंत्री बुद्ध धन चकमा को भी औपचारिक रूप से पार्टी में शामिल किया। बता दें कि कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद ये कयास लगाए जा रहे थे कि चकमा भाजपा में शामिल हो सकते हैं।


भाजपा की मिजोरम इकाई के अध्यक्ष प्रोफेसर जॉन वी हलुना ने समाचार एजेंसियों को बताया कि भाजपा चकमा को विधानसभा चुनाव में तुईचवांग सीट से अपना उम्मीदवार बना सकती है। चकमा के इस्तीफे के साथ हाल में कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले विधायकों की संख्या तीन हो गई है। मौजूदा विधानसभा में विधायकों की संख्या घटकर 37 हो गयी है। सत्तारूढ़ कांग्रेस के विधायकों की संख्या 31 जबकि विपक्षी एमएनएफ के विधायकों की संख्या छह है।