कांग्रेस के खेमे में सियासी घमासान मचा हुआ है। कई दिग्गज नेताओं ने पार्टी को इस्तिफा दे दिया है। हाल ही में अपनी जान को खतरा बताने वाले पंजाब कांग्रेस के एक नेता ने इस्तिफा सौंप दिया है। बता दें किल सियासी खींचतान के बीच कश्मीर से लेकर इंदिरा गांधी पर विवादित टिप्पणी करने वाले नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मालविंदर सिंह माली ने पार्टी को इस्तिफा दे दिआ है।

जानकारी के लिए बता दें कि कांग्रेस ने नवजोत सिंह सिद्धू को सलाहकार मालविंदर को हटाने का अल्टीमेटम दिया था, जिसके बाद माली ने खुद ही अपना इस्तीफा सौंप दिया। माली ने अपनी जान को खतरा बताया है और कैप्टन अमरिंदर समेत कई लोगों को जिम्मेवार ठहराया है। सिद्धू के नाम लिखे एक खत में मालविंदर सिंह माली ने कहा कि “ मैं पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को सुझाव देने के लिए दी गई अपनी सहमति वापस लेता हूं ”।


माली ने अपने बयान में लिखा कि “ मेरे खिलाफ कुछ नेताओं द्वारा नफरती कैंपेन चलाए गए। अगर मेरी जान को कोई नुकसान होता है या फिजिकल हार्म होता है तो इसके लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह, विजय इंद्र सिंगला, कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी, सुखबीर सिंह बादल, बिक्रमजीत सिंह मजीठिया और बीजेपी के सुभाष शर्मा, आम आदमी पार्टी के राघव चड्ढा और जरनैल सिंह जिम्मेदार होंगे ”।