कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा असम से लोकसभा सांसद गौरव गोगई ने सरकार पर एनआरसी मामले को लेकर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने कहा कि एनआरसी के वर्तमान स्थिति से कोई भी खुश नहीं हैं। उन्होंने यह बात शनिवार को सोनिया गांधी के आवास पर हुई बैठक के बाद कही। असम सरकार द्वारा शनिवार को एनआरसी सूची जारी करने के बाद मेघालय के पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा के साथ गोगोई ने कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की।


गौरव गोगोई ने कहा कि असम का हर नागरिक एनआरसी कि स्थिति से खुश नहीं है। यहां तक भारतीय जनता पार्टी सरकार के मंत्री भी इससे खुश नही हैं। इसको लेकर लापरवाही बरती गई है, जिसके कारण लोगों को बेवजह कोर्ट के चक्कर लगाने पड़ेंगे। उन्होंने कांग्रेस पार्टी जरूरी मदद उपलब्ध कराएगी। देश हमारे लिए सर्वोपरि है।


इससे पहले उन्होंने सोनिया गांधी के आवास के बाहर पत्रकारों से कहा कि पार्टी अध्यक्ष को उन्होंने एनआरसी के बारे में पूरी जानकारी  दी है। सोनिया गांधी को उन्होंने बताया है कि वह जल्द ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ मिलकर इस बारे में विचार विमर्श करेंगी। वहीं मुकुल संगमा ने कहा कि एनआरसी  पर असम समझौते के तहत कदम उठाया गया है।


यह समझौता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने 1985 में किया था। कांग्रेस का स्प्ष्ट मत है कि देश के असली नागरिकों के हितों को सुनिश्चित किया जाना आवश्यक है।