कांग्रेस ने कहा है कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए मिले चंदे की रकम में भारी घोटाला हुआ है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनता की आस्था के साथ हुए इस विश्वासघात की उच्चतम न्यायालय की देखरेख में जांच कराएं। 

कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सोमवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस मामले में जो तथ्य सामने आए हैं उनसे साफ है की चंदे की रकम में जबरदस्त घोटाला हुआ है और मंदिर निर्माण के लिए मिले चंदे से कम कीमत की जमीन को भारी दाम पर खरीदा गया है। उनका आरोप है इस घोटाले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कई नेता शामिल हैं जो पार्टी के बड़े नेताओं के बहुत करीबी हैं। 

उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए एकत्रित धन में कितना जबरदस्त घोटाला हुआ है इसका अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि मंदिर के लिए दो करोड़ रुपए की जमीन के लिए कुछ ही मिनट के भीतर 16.5 करोड़ रुपए अधिक देकर 18.5 करोड़ रुपए में खरीदा जाता है। उन्होंने इसे दुनिया में जमीन का एकमात्र सौदा बताया है जो 5.5 लाख रुपए प्रति सेकेंड की दर से बढ़ा है। प्रवक्ता ने श्री मोदी से इन घोटालों से जुड़े सवालों का जवाब मांगते हुए कहा कि मंदिर निर्माण के लिए चंदे में प्राप्त राशि और उसके खर्च का उच्चतम न्यायालय की देखरेख में ऑडिट कराने की मांग की है।