भारतीय भारोत्तोलकों (Indian weightlifter) पूनम यादव (Indian weightlifter poonam yadav) और अरोकिया अलीश के 76 किग्रा महिला श्रेणी में क्रमश: रजत और कांस्य तथा विकास ठाकुर के 96 किग्रा पुरुष श्रेणी में कांस्य पदक जीतने के साथ भारत ने यहां ताशकंद में जारी राष्ट्रमंडल भारोत्तोलन चैंपियनशिप (Commonwealth Weightlifting Championships) में तीन और पदक अपने खाते में किए। 

इस तरह भारतीय टीम ने राष्ट्रमंडल भारोत्तोलन चैंपियनशिप में अब तक 12 पदक अपने नाम कर लिए हैं, हालांकि ताशकंद में ही आयोजित विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप (World Weightlifting Championships) में भारत की झोली में अभी तक महज एक ही पदक आया था । राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता पूनम ने मंगलवार को 76 किग्रा श्रेणी में जहां स्नैच में 98 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 122 किग्रा भार मिला कर कुल 220 किग्रा वजन उठा कर रजत पदक अपने नाम किया, वहीं उनकी हमवतन अरोकिया स्नैच में 91 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 123 किग्रा को मिला कर कुल 214 किग्रा भार उठा कर कांस्य पदक जीतने में कामयाब रहीं। 

दोनों भारतीय महिला भारोत्तोलक (Indian female weightlifter) प्रतियोगिता में शीर्ष 10 रैंकिंग में भी जगह बनाने में सफल रहीं। पूनम जहां चैंपियनशिप रैंकिंग में सातवें, वहीं अरोकिया नौवें स्थान पर रहीं। इससे पहले सात बार के राष्ट्रीय चैंपियन और दो बार के राष्ट्रमंडल खेलों के पदक विजेता विकास ठाकुर ने राष्ट्रमंडल भारोत्तोलन चैंपियनशिप में 96 किग्रा पुरुष वर्ग में संयुक्त रुप से कुल 339 क्रिगा (150+189) भार उठाकर कांस्य पदक अपने नाम किया। इसी भार वर्ग में उनके हमवतन जगदीश विश्वकर्मा (Jagdish Vishwakarma) ने कुल 328 किग्रा (142+186) वजन उठाया, लेकिन कोई भी पदक उनके हाथ नहीं लगा। दोनों भारतीय भारोत्तोलक प्रतियोगिता में शीर्ष 20 के लीडरबोर्ड से बाहर रहे। 96 किग्रा भार वर्ग में कुल 38 भारोत्तोलकों ने भाग लिया, जिसमें ठाकुर 21वें पायदान पर रहे, जबकि विश्वकर्मा ने 23वें स्थान पर रह कर अभियान समाप्त किया।