भारत मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) ने अगले दो दिनों के दौरान पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान में शीत लहर (Cold wave) की स्थिति की भविष्यवाणी की है। विभाग का कहना है कि इससे बाद तापमान में थोड़ी तेजी दर्ज की जाएगी। आईएमडी ने कहा कि ताजा सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ 21 जनवरी से उत्तर पश्चिमी भारत को प्रभावित करेगा।

आईएमडी (IMD) के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ आरके जेनामणि ने भी कहा, दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में आज कोहरे की स्थिति में सुधार हुआ है। दिल्ली में 21 जनवरी की रात से 23 जनवरी की सुबह तक पश्चिमी विक्षोभ (western disturbance) के चलते हल्की बारिश होगी। भारत मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) ने रविवार को भी पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिम उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में अगले 2 दिनों के लिए भीषण ठंड  (Cold wave) की स्थिति की भविष्यवाणी की थी। बयान में कहा गया, एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ 18 जनवरी से पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र को प्रभावित कर सकता है। एक और पश्चिमी विक्षोभ के 21 जनवरी से उत्तर पश्चिम भारत को प्रभावित करने की संभावना है।

इस बीच, दिल्ली (Delhi climate) में रविवार सुबह 7 बजे न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की उम्मीद है। दिल्ली और उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड के साथ रविवार सुबह दिल्ली में कोहरे (fog in delhi) की चादर छाई रही। कम दृश्यता के चलते दिल्ली जाने वाले कई ट्रेने देरी से चल रही हैं। मौसम विभाग (IMD) का कहना है कि लेह में भी कड़ाके की ठंड जारी रहेगी। यहां का न्यूनतम तापमान माइनस 14 डिग्री सेल्सियस रहेगा, जबकि अधिकतम तापमान माइनस 01 डिग्री सेल्सियस रहेगा। आसमान में बादल छाए रहेंगे। इसके अलावा जम्मू में न्यूनतम तापमान 08  डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। वहीं श्रीनगर में  न्यूनतम तापमान -1 डिग्री और अधिकतम तापमान 07 डिग्री सेल्सियस रह सकता है।