उत्तराखंड में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए आम आदमी पार्टी पूरी ताकत में है। रिटायर कर्नल अजय कोठियाल प्रदेश में AAP  का ट्रंप कार्ड माने जा रहे हैं। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने संकेत दिए हैं। बता दें कि अभी कोई आधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है, लेकिन कयास लगाए जा रहे हैं। फिलहाल राज्य में गंगोत्री और हल्द्वानी, दो विधानसभा सीटें खाली हैं, जहां उपचुनाव को लेकर सरगर्मियां रह चुकी हैं।


जानकारी के लिए बता दें कि कुछ ही हफ्तों पहले AAP ने आधिकारिक तौर पर गंगोत्री उपचुनाव के उम्मीदवार के तौर पर कोठियाल के नाम का ऐलान करते हुए कहा था, अगर पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह चौहान इस सीट से उपचुनाव लड़े तो कोठियाल टक्कर देंगे। बता दें कि भारतीय आर्मी से रिटायर कर्नल और उत्तरकाशी में पर्वतारोहण के नेहरू इंस्टिट्यूट के पूर्व प्राचार्य कोठियाल ने इसी साल 20 अप्रैल को आम आदमी पार्टी जॉइन की थी।


सिसौदिया के संकेत?
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने उत्तराखंड में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा,  “ मैं राज्य के लोगों से पूछना चाहता हूं कि क्या कर्नल अजय कोठियाल जैसे व्यक्तित्व को उत्तराखंड का मुख्यमंत्री होना चाहिए? ”। यही नहीं, सिसौदिया ने यह भी कहा कि “ आम आदमी पार्टी (AAP) अगर उत्तराखंड में सत्ता में आई तो दिल्ली मॉडल के अनुसार ही राज्य में शिक्षा के क्षेत्र में काम किए जाएंगे, जहां उत्तराखंड अभी पिछड़ा हुआ है ”।